UKG FULL FORM IN HINDI क्या है? पूरी जानकारी

Spread the love

UKG Full Form in Hindi, UKG Ka Pura Naam Kya Hai, UKG क्या है, UKG Ka Full Form Kya Hai, UKG का Full Form क्या है,  UKG meaning, UKG क्या क्या कार्य होता है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों ! आपका बहुत-बहुत स्वागत है हमारे नए आर्टिकल ukg full form in Hindi में। UKG क्या होता है? और UKG का use हम कब करते हैं? यदि आप अब तक नहीं जानते हैं कि UKG full form in Hindi क्या है और इसके बारे में जानने के लिए काफी उत्साहित हैं, तो हम इस आर्टिकल में आपके लिए UKG full form in Hindi के साथ -साथ इसकी पूरी जानकारी लेकर आए हैं, जिसके माध्यम से आप UKG की पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। UKG के बारे में जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने UKG full information की संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है ukg के अंतर्गत बातें बताने वाले हैं –

UKG का पूरा नाम क्या है? (UKG FULL FORM IN HINDI?)

यदि हम बात करें UKG का फुल फॉर्म क्या है? (Full form of UKG  in Hindi?) की तो बता दें कि UKG की फुल फॉर्म Upper Kindergarten होती है। सबसे पहले बच्चों को nursery, LKG यानी lower kindergarten में एडमिशन दिया जाता है। UKG को हिंदी में बाल विहार कहा जाता है। UKG में 4 से 5 साल तक के बच्चे पढ़ाई करते हैं और यहां पर उनकी क्लास करवाई जाती है। 

UKG क्या है? (What is UKG in Hindi?)

Kindergarten का मतलब होता है “बच्चों के लिए उद्यान”। जब आप अपने बच्चे को पहली बार किसी स्कूल में एडमिशन के लिए ले जाते हैं तो बच्चे को सबसे पहले इसी UKG और LKG  के अंतर्गत पढ़ाई करवाई जाती है। UKG को Upper Kindergarten कहा जाता है। इसके अंतर्गत बच्चे को 1 साल तक पढ़ाई करनी होती है। पहली क्लास में जाने के लिए सबसे पहले बच्चों को 1 साल के लिए UKG में पढ़ाया जाता है। 1 साल के पश्चात ही UKG के बच्चों को Class 1 में जाने की अनुमति दी जाती है। 

किंडरगार्टन शब्द का सबसे पहले उपयोग Friedric Frobel ने सन 1884 में जर्मनी में किया था। Kindergarten एक जर्मनी शब्द है। Kindergarten का मतलब होता है garden for the children, जिसकी शुरुआत उन माता-पिता के बच्चों को संभालने के लिए की गई थी जो घर से बाहर काम किया करते थे और घर में अपने बच्चों को टाइम नहीं दे पाते थे। हर माता-पिता अपने बच्चों को शिक्षा प्रदान करना चाहते हैं किंतु घर में न होने की वजह से वह उन्हें सर्वश्रेष्ठ शिक्षा प्रदान नहीं कर पाते हैं और ना ही लिखना और पढ़ना सिखा पाते हैं।

बच्चे को शुरुआत में सवारना, उसका ज्ञान बढ़ाना और विभिन्न विचारों से अवगत कराना होता है। इन सभी बातों को ध्यान रखते हुए kindergarten की शुरुआत की गयी थी और इनमें काम करने वाले माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाने, लिखाने एवं आसपास के वातावरण से परिचित कराने के लिए Kindergarten में भेजा करते थे।

UKG को बाल विहार के नाम से जाना जाता है। 5 साल के बच्चों को शिक्षा प्रदान की जाती है। जब बच्चे LKg की सभी चीजें  सीख लेते हैं, तो 1 वर्ष के बाद उनका प्रवेश UKg में किया जाता है। LKg के बच्चों को बेसिक जानकारी दी जाती है। बेसिक जानकारी हो जाने के पश्चात इनको यूकेजी में प्रवेश कराया जाता है। यहां पर बच्चों को खेल खेल में शिक्षा प्रदान की जाती है बच्चों को पेंसिल पकड़ा कर लाइन खींचना, अक्षर बनाना और बोलना सिखाया जाता है। 

अधिकतर विद्यालय में बच्चों को रेखा चित्र, अक्षर बनाना, अक्षर पहचानना और बोलना एवं कविता आदि के माध्यम से सिखाया जाता है। यहां पर बच्चों को बैठने की आदत सिखायी जाती है। लाइन में खड़े होने के लय को बताया जाता है। उनको तरह तरह के खेल बताए जाते हैं। खेल के द्वारा ही बच्चों को अधिकतर शिक्षा प्रदान की जाती है। 

UKg में प्रवेश से पहले एलकेजी के बच्चों से परीक्षा ली जाती है। उसके पश्चात है एलकेजी के बच्चों को यूकेजी में प्रवेश दिया जाता है। इस तरह से बच्चों का मूल्यांकन किया जाता है और मूल्यांकन के पश्चात ही आगे की कक्षा के लिए योग्य माना जाता है। UKG के अंतर्गत बच्चों को ड्राइंग, खेलकूद , संगीत आदि के द्वारा बच्चों को व्यवहारिक और आसपास के वातावरण से परिचित कराया जाता है। बच्चों के अंदर छुपी हुई कला को सबके सामने प्रस्तुत किया जाता है और बच्चों को आगे बढ़ने के लिए हौसला अफजाई की जाती है।

UKG के अंतर्गत बच्चों को एक दूसरे से दोस्ती करना, एक दूसरे की मदद करना, अच्छे से बैठना, अच्छे से लाइन में खड़े होना, अच्छे से एक दूसरे से बातें करना और हाथों को समय-समय पर धोते रहना आदि भी सिखाया जाता है। बच्चों की प्राथमिक शिक्षा यहीं से दी जाती है। इसी में बच्चों को पहली बार एडमिशन दिया जाता है। किंडर गार्डन के अंतर्गत बच्चों को अच्छी-अच्छी बातें सिखलाई जाती है और उनमें इच्छाएं जागृत की जाती है। विशेषकर खेल के द्वारा बच्चों को उत्साहित किया जाता है, क्योंकि बच्चों का खेल बहुत प्रिय होता है और इसी के द्वारा बच्चों को उचित शिक्षा की ओर आकर्षित किया जाता है।

LKG FULL FORM IN HINDI -जानिए क्या है LKG, पूरी जानकारी

UKG की जानकारी (information about UKG in Hindi)

UKG अर्थात बाल उद्यान, जिसे बाल विहार भी कहा जाता है। काम करने वाले माता-पिता अपने बच्चों को लेकर काफी चिंतित रहते हैं और सोचते हैं कि उन्हें शिक्षा से कैसे अवगत कराया जा सके। किस उम्र में बच्चों को स्कूल जाना शुरू करना चाहिए और उसकी आयु सीमा कितनी होनी चाहिए। प्री प्राइमरी और प्राइमरी स्कूल में प्रवेश के लिए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। कैसे बच्चों को पढ़ाई की और दिलचस्पी दिखाना चाहिए जैसे सवाल उठते रहते हैं।

Pre primary :

Pre primary के अंतर्गत बच्चों को ज्ञान कौशल और व्यवहार के वातावरण से अवगत कराया जाता है। पूर्व प्राथमिक शिक्षा के पूरा होने से बच्चे को प्राथमिक चरण में भेजा जाता है।  प्राथमिक शिक्षा अनिवार्य शिक्षा का पहला चरण होता है यह बच्चों को सक्षम और भविष्य में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। पूर्व प्राथमिक चरण में प्री- नर्सरी, नर्सरी, एलकेजी, यूकेजी के बच्चे शामिल होते हैं। LKG or UKG को किंडरगार्टन के नाम से जाना जाता है। LKG के बच्चों को Lower Kindergarten और यूकेजी के बच्चों को Upper Kindergarten के नाम से जाना जाता है।

Primary stage :

प्राथमिक अवस्था में 1 से 5 तक की वर्ष की अवधि होती है। कक्षा एक के लिए आयु सीमा 4 से  5 वर्ष होता है। प्राथमिक विद्यालय में नामांकन आयु के अनुसार शुरू किया जाता है। 5,6 साल से लेकर के 14 साल तक की उम्र जारी की जाती है। भारत में प्राथमिक शिक्षा मिशन, प्राथमिक शिक्षा की सुविधाओं की देखभाल किया जाता है। प्राथमिक विद्यालय की संरचना पूर्व प्राथमिक शिक्षा से पहले और माध्यमिक शिक्षा के बाद होता है। प्राथमिक विद्यालय में पढ़ाई जाने वाले विषयों में विज्ञान, भूगोल, इतिहास, गणित और अन्य सामाजिक विज्ञान शामिल होते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion) :

हमें उम्मीद है कि आपके लिए UKG kya hota hai (What is UKG in Hindi?) की यह आर्टिकल काफी मदद कर रही होगी। इसमें हमने UKG kya hota hai के सभी जानकारी का जिक्र किया है, जिसके माध्यम से आपको UKG kya hota hai के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी।

इसके माध्यम से आप समझ ही गए होंगे कि UKG बच्चों को एक नया रूप देने के साथ-साथ हमारे समाज के लिए जो महत्वपूर्ण कार्य करता है, वह वाकई में सराहनीय है।

यदि आप चाहते हैं कि अन्य लोगों को भी इस आर्टिकल के माध्यम से UKG kya hota hai के बारे में पता चले तो इसे जरूर से जरूर शेयर करें और हमारे साथ जुड़े रहें।


Spread the love

Leave a Comment