PGT FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है PGT, पूरी जानकारी

Spread the love

PGT Full Form in Hindi, PGT Ka Pura Naam Kya Hai, PGT क्या है, PGT Ka Full Form Kya Hai, PGT का Full Form क्या है,  PGT meaning, PGT क्या क्या कार्य होता है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! PGT का नाम तो आपने पहले भी सुना ही होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि PGT full form in Hindi क्या है? यदि नहीं तो PGT के बारे में जानना आपके लिए बेहद लाभदायक हो सकता है क्योंकि यह आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द हैं। यदि आप अब तक नहीं जानते कि PGT full form in Hindi क्या है तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में PGT  full form in Hindi के साथ-साथ इसकी सभी जानकारी लेकर आए हैं, जिसकी मदद से आप इसके बारे में सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

PGT full form क्या होता है? इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने PGT full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। PGT के अंतर्गत आपको हम निम्नलिखित बातें बताने वाले हैं–

PGT का फुल फॉर्म क्या है? (PGT Full Form in Hindi?) 

PGT का फुल फॉर्म Post Graduate Teacher है। इसे हिंदी में परास्नातक शिक्षक कहा जाता है। सरकारी स्कूलों तथा कॉलेजों में कक्षा 10th से 12th तक के स्टूडेंट को पढ़ाने के लिए जो भी कैंडिडेट्स इच्छुक होते हैं, उन्हें PGT करना आवश्यक होता है। इस प्रकार उच्च स्तर के अध्यापक की नौकरी हेतु PGT करना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। कई लोग संक्षेप में इसे PG teacher भी कहते हैं।

PGT क्या है? (What is PGT in Hindi?)

अब तक आपने जान लिया कि PGT का फुल फॉर्म क्या है? (PGT Full Form in Hindi?)  लेकिन बता दें कि केवल इतनी सी जानकारी इसकी पूरी व्याख्या नहीं करती। आपको यह जानने के लिए आवश्यक है कि इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करें।

PGT कोई कोर्स नहीं है बल्कि यह तो एक परीक्षा है जो सरकारी टिचर की जॉब के लिए होती है। ऊंचे स्तर के सरकारी अध्यापक बनने के लिए यानी कि सरकारी स्कूलों तथा कॉलेजों में कक्षा 10th से 12th तक के students को पढ़ाने के लिए PGT क्लियर करना अनिवार्य होता है। 

PGT में कई अलग-अलग विषय होते हैं, जिसमेंव विषयों का चयन ग्रेजुएशन में लिए गए subject के आधार पर ही किया जाता है।

UAE FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है UAE, पूरी जानकारी

PGT का सिलेबस क्या है? (What is the syllabus of PGT in Hindi?)

PGT exam में बचपन से लेकर ग्रेजुएशन तक पढ़े जाने वाली सभी विषयों से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं‌। PGT में विषयों का निर्धारण ग्रेजुएशन में लिए गए subjects के ऊपर निर्भर करता है। PGT के अंतर्गत जिन विषयों की जानकारी दी जाती है, वो निम्नलिखित है –

हिंदी (Hindi)

अंग्रेजी (English)

गणित (Math)

कला (Drawing)

भौतिक विज्ञान (Physics)

रसायन विज्ञान (Chemistry)

जीव विज्ञान (Biology)

इतिहास (History)

भूगोल (Geography)

नागरिक शास्त्र (Civics)

राजनीतिक शास्त्र (Polity)

अर्थशास्त्र (Economics)

वाणिज्य (Commerce)

वनस्पति विज्ञान (Botany)

जंतु विज्ञान (Zoology)

कृषि (Agricultural)

संस्कृत (Sanskrit)

कंप्यूटर साइंस (Computer science)

PGT के लिए योग्यता क्या है? (What is qualification of PGT in Hindi?)

PGT करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है कि वह PGT करने‌

से पहले बीएड कर चुका हो। साथ ही उसके पास M A (एमए), M com (एम कॉम) या M sc (एम एससी) जैसा कोई बड़ा और सरकारी शैक्षणिक प्रमाण पत्र उपलब्ध होना अनिवार्य है। इसके अलावा कैंडिडेट्स में PGT के लिए जिन अन्य योग्यताओं का होना आवश्यक है, वह निम्नलिखित है :-

  1. PGT करने के लिए सबसे पहले आवश्यक होता है कि आप पोस्ट ग्रेजुएट हो यानी कि आपका ग्रेजुएशन कंप्लीट हो चुका है, चाहे आपने किसी भी सब्जेक्ट या क्षेत्र को लेकर ग्रेजुएशन पूरा किया हो, आप PGT के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  1. PGT करने के लिए M A , M com या M sc किसी भी विषय से 50 प्रतिशत अंको के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है।
  1. इसके साथ ही पीजीटी के लिए इंटरेस्टेड कैंडिडेट्स के पास बीएड या इसके समान ही कोई डिग्री होनी चाहिए। तभी इसके लिए आवेदन भरा जा सकता है।
  1. पीजीटी के लिए सबसे जरूरी बात यह है कि आवेदन भरने वाले की आयु 21 वर्ष से 42 वर्ष के बीच में ही होनी चाहिए। वरना आवेदन रद्द कर दिया जाएगा। आरक्षित वर्ग में आने वाले कैंडिडेट्स को आयु में विशेष छूट देने का प्रावधान है।
  1. लिखित परीक्षा में कम से कम 85% नम्बर लाना एवं इंटरव्यू में 10% नंबरों से पास होना अतिआवश्यक होता है।

PGT के लिए प्रक्रिया क्या है? (What is the process of PGT in Hindi?)

PGT एग्जाम की पूरी प्रक्रिया दो भागों में पूरी होती है।

  1. लिखित (written )

II.साक्षात्कार (interview)

  1. लिखित (written) – PGT के लिए ली जाने वाली लिखित परीक्षा में सब्जेक्ट से संबंधित बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। कुल 125 प्रश्न आते हैं जहां अधिकतम अंक 425 होता हैं। साथ ही इसके लिए 2 घंटे का न्यूनतम समय दिया जाता है। हिंदी क्षेत्र से ही कम से कम 20 प्रश्न होते हैं।

II.साक्षात्कार (interview)

साक्षात्कार मात्र 10% नंबरों के लिए लिया जाता है, लेकिन इसमें भी उत्तीर्ण होना आवश्यक होता है। जब PGT की मेरिट लिस्ट निकलती है, उनमें लिखित परीक्षा और साक्षात्कार दोनों में मिली नंबरों को जोड़कर ही PG teacher का रिजल्ट तैयार किया जाता है।

लिखित परीक्षा और इंटरव्यू दोनों पास करने के बाद जिन लोगों का selection इस जॉब के लिए हो जाता है, उन कैंडीडेट्स का document verification होता हैं ताकि कोई froad ना हो। इस प्रक्रिया के पूरी होने के पश्चात जॉब बिल्कुल फिक्स हो जाता हैं यानी कि वह उम्मीदवार एक सरकारी परमानेंट टीचर के रूप में नियुक्त हो जाते हैं, जो कि अपने आप में बेहद खास है। अध्यापक की जॉब कोई छोटी मोटी जॉब नहीं होती है बल्कि यह एक आदर्श और सम्मानित नौकरी है। इसके बाद उम्मीदवार को ऑफिशियल रूप से जॉइनिंग लेटर आता है। जॉइनिंग के पश्चात वह एक उच्च माध्यमिक का शिक्षक बन जाता है।

केंद्रीय विद्यालयों में अध्यापकों की कमी को पूरा करने के लिए भारत सरकार केंद्रीय स्तर से भर्तियां निकालती रहती है। योग्य उम्मीदवार को इसके लिए बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट reirb.telangana.gov.in पर जाकर आवेदन भरना होगा। PGT exam अध्यापक बनने की ख्वाहिश रखने वाले अभ्यर्थियों के लिए बहुत ही सुनहरा अवसर होता है। इसमें प्रत्येक अध्यापक को प्रति माह लगभग 20000 से 40000 रूपए सैलरी दिए जाते हैं।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment