PGDM FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है PGDM, पूरी जानकारी

Spread the love

PGDM Full Form in Hindi, PGDM Ka Pura Naam Kya Hai, PGDM क्या है, PGDM Ka Full Form Kya Hai, PGDM का Full Form क्या है,  PGDM meaning, PGDM क्या क्या कार्य होता है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! PGDM के बारे में तो आपने पहले भी सुना ही होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि PGDM full form in Hindi क्या है? यदि नहीं तो PGDM के बारे में जानना आपके आगे के करियर और पढ़ाई के लिए बेहद ही फायदेमंद हो सकता है क्योंकि यह आमतौर पर स्टूडेंट्स द्वारा कॉलेज या यूनिवर्सिटी द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द या विषय हैं जो आपकी जीवनशैली और करियर में काफी मदद कर सकते हैं।

यदि आप अब तक नहीं जानते कि PGDM full form in Hindi क्या है तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में PGDM full form in Hindi के साथ-साथ इससे जुड़ी जानकारी लेकर आए हैं, जिसकी मदद से आप इसके बारे में सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको PGDM full form क्या होता है?, PGDM का क्या मतलब है?, PGDM कोर्स की पढ़ाई कैसे होती हैं? जैसी सभी जानकारियां बताने वाले हैं। इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने PGDM full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। PGDM के अंतर्गत आने वाली हर बात और सिलेबस जैसी चीजें यहां निम्नलिखित हैं –

PGDM का फुल फॉर्म क्या है?( PGDM Full Form in Hindi) 

PGDM का पूरा नाम या फुल फॉर्म Post Graduate Diploma in Management होता है। 

PGDM क्या है? (What is PGDM in Hindi?)

PGDM स्नातक के बाद करने वाली एक कोर्स है। इस कोर्स की पढ़ाई भारत के अधिकतर इंस्टिट्यूट या यूनिवर्सिटी में होती है। इस कोर्स को पूरा करने के लिए 2 वर्ष का समय लगता है। हर साल भारत में PGDM के कोर्स करने वाले छात्रों की वृद्धि होती ही जा रही है क्योंकि इसकी मदद से प्रबंधन या व्यवसाय क्षेत्र में आसानी से लोग नौकरी करके अपना करियर बना सकते हैं। 

PGDM की मान्यता कहां से मिली है? (From where is the PGDM recognized in Hindi?)

PGDM की कोर्स भारत के कई यूनिवर्सिटी में होती है जिसे भारत सरकार द्वारा मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत AICTE ने स्वीकृति दी है। PGDM के कोर्स की संरचना और उसके विषय करीब MBA के बराबर ही होते हैं। जहां PGDM की पढ़ाई पर पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा मिलता है वही MBA की पढ़ाई पर एक डिग्री दी जाती है। इसलिए PGDM को डिग्री कोर्स नहीं माना जाता है। 

PGDM के कोर्स के लिए किन योग्यताओं की जरूरत है? (What are the qualifications required for PGDM course in Hindi?)

PGDM के कोर्स के लिए किसी भी व्यक्ति को 12वीं कक्षा में किसी भी विषय के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है। उस स्टूडेंट को स्नातक यानी कि ग्रेजुएशन की 3 साल की डिग्री लेनी होगी तथा 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना पड़ेगा। इन सभी बातों के साथ PGDM कोर्स के लिए एडमिशन हो सकता है। 

EMI FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है EMI, पूरी जानकारी

PGDM कोर्स करने में कितना समय लगता है? (How long does it take to do PGDM course in Hindi?)

PGDM कोर्स को पूरा करने के लिए पूरे 2 साल का समय लगता है। कई यूनिवर्सिटी इन 2 साल की पढ़ाई को 4 या 6 सेमेस्टर में विभाजित करती है। इस पीजीडीएम कोर्स की खासियत यह है कि यह एक इंडस्ट्री पर आधारित एडवांस कोर्स है जिसके सिलेबस में हर चार-पांच वर्ष के बाद बदलाव किया जाता है। इस कोष के माध्यम से सेमिनार पैनल डिस्कशन गेस्ट लेक्चर वर्कशॉप जैसे कई कार्य होते हैं जिससे विद्यार्थियों में संपूर्ण विकास किया जा सकता है। 

PGDM कोर्स में किस की पढ़ाई होती है? (What is studied in PGDM course in Hindi?)

PGDM की फुल फॉर्म से ही पता चलता है कि स्टूडेंट्स को इस कोर्स के माध्यम से मैनेजमेंट करना सिखाया जाता है। इस पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट कोर्स के अंतर्गत छात्रों को बिजनेस, इंडस्ट्री और मार्केटिंग से जुड़ी बातों की शिक्षा दी जाती है। PGDM में बिजनेस मार्केटिंग और फाइनेंस से जुड़े विषयों के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है।

PGDM के कोर्स में कैसे प्रवेश किया जाता है? (How to get admission in PGDM course in Hindi?)

PGDM का कोर्स बाकी स्नातक के कोर्स की तरह ही है जिसमें एक एंट्रेंस एग्जाम दिया जाता है जो बहुत ही आसान होता है। PGDM के कोर्स में प्रवेश के लिए सबसे पहले 12वीं और स्नातक की पढ़ाई खत्म करनी होती है उसके बाद PGDM के लिए कई कॉलेज और यूनिवर्सिटी द्वारा ली जा रही प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होना पड़ता है। उसके बाद अगले चरण में एक लेखन परीक्षा, साक्षात्कार और समूह चर्चा जैसे चरण होते हैं। इन सभी परीक्षा को पार कर छात्रों के प्रदर्शन और अंकों के अनुसार उनका एडमिशन लिया जाता है।

PGDM कोर्स करने में कितना खर्च होता है? (How much does it cost to do PGDM course in Hindi?)

अलग-अलग कॉलेज और यूनिवर्सिटी के कारण किसी कॉलेज में कम तो कहीं ज्यादा PGDM की फीस होती है। PGDM कोर्स को पूरा करने के लिए कम से कम एक लाख और अधिक से अधिक 15 लाख रुपए तक खर्च हो सकते हैं। कई ऐसे सरकारी कॉलेज हैं जहां PGDM कोर्स के लिए कम खर्च होता है।

PGDM के लोगों को कैसी नौकरी मिलती है? (How do PGDM people get jobs in Hindi?)

दोस्तों ! PGDM के द्वारा कई छोटे-बड़े कम्पनी में लोगों को अच्छी खासी पोस्ट पर नौकरी मिल सकती है। किसी भी कंपनी के लिए वह व्यक्ति मैनेजर या अकाउंटेंट के तौर पर काम कर सकता है। पीजीडीएम विदेश कोर्स किए हुए लोगों को टूरिज्म मैनेजर को मार्केटिंग मैनेजर की नौकरी भी मिलती है। एक पब्लिशर या पब्लिक रिलेशन ऑफिसर के तौर पर PGDM कोर्स को पूरा किए हुए लोग अपना जॉब प्रोफाइल बना सकते हैं। 

PGDM कोर्स के बाद कितनी तनख्वाह मिलती है? (What is the salary after PGDM course in Hindi?)

हम आपको बता दें कि PGDM कोर्स के बाद मिलने वाली नौकरियों में व्यक्ति के अनुभव, कौशल और टैलेंट के आधार पर तनख्वाह दी जाती है। PGDM कोर्स किए व्यक्ति को करीब 4 लाख से 15 लाख रुपए हर वर्ष मिल सकता है।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment