PAN FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है PAN, पूरी जानकारी

Spread the love

PAN Full Form in Hindi, PAN Ka Pura Naam Kya Hai, PAN क्या है, PAN Ka Full Form Kya Hai, PAN का Full Form क्या है,  PAN meaning, PAN क्या क्या कार्य होता है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

साथियों! PAN का नाम तो आप सबों ने सुना ही होगा क्या है या आप जानते हैं तो चलिए आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको PAN के बारे में सारी जानकारी देंगे । यदि नहीं तो PANके बारे में जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी और फायदेमंद होगा।

क्योंकि यह आमतौर पर आज के वर्तमान समय में लोगों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द है जो आपकी  कार्यप्रणाली में भी काफी सहायक मिलेगी यदि आप अब तक नहीं जानते हैं कि PAN है क्या तो हम आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से PANके बारे में पूरी जानकारी के साथ उपस्थित हुए हैं चलिए देखते हैं:

साथियों! इस आर्टिकल के माध्यम से आपको PAN का फुल फॉर्म क्या होता है ? इसका मतलब क्या है? PAN कार्ड कैसे बनती है? इसका उपयोग क्यों करते हैं?जैसी कई सारी जानकारी हम आपको आज देंगे इसे जाने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें जिससे आपको सटीक जानकारी PAN के बारे में मिल सके।

PAN का फुल फॉर्म क्या है? ( PAN Full Form in Hindi) 

 PAN का पूरा नाम  होता है,Permanent Account Number.  यदि इसका मतलब हिंदी में आप समझना चाहते हैं तो इसे स्थायी खाता संख्या कहते है।

PAN क्या है? (What is PAN in Hindi?)

PAN कार्ड एक प्रकार का पहचान कार्ड है जिसे हम अपने फाइनेंशियल लेन-देन में इसका प्रयोग  करते हैं। पैन कार्ड 10 अंकों वाले होते हैं जो इस प्रकार रहते हैं BNGOP3014F । इसे आयकर विभाग द्वारा जारी किया गया है। पैन कार्ड एक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है जिसके द्वारा कोई भी व्यक्ति या कंपनी टैक्स से संबंधित सभी जानकारी पैन कार्ड के जरिए दे सकता है।

पैन कार्ड की शुरुआत कब हुई थी ? (When was PAN card introduced?)

पैन कार्ड की शुरुआत पहली बार 1972 ईस्वी में PAN की अवधारणा यह पुरानी सीरीज है भारत सरकार द्वारा जारी की गई थी तथा 1 अप्रैल 1976 से प्रभावी होने के कारण आयकर अधिनियम ने 1961 की धारा 139 AA के तहत इसे वैधानिक बना दिया।

HD FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है HD, पूरी जानकारी

पैन कार्ड किस काम में आता है? का उपयोग कहां कहां किया जाता है? (What is the use of PAN card? Where is it used?)

  पैन कार्ड एक पहचान कार्ड है और इसका उपयोग हम  सरकारी या निजी संस्था से जुड़ी कार्य में आईडी प्रूफ के तौर पर इसका प्रयोग करते हैं। यह कार्डभारत सरकार द्वारा जारी की गई है और यह कार्ड किसी भी जगह पर बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान रखती है सरकारी दफ्तर से लेकर हर एक जगह में इस कार्ड का महत्व है।

पैन कार्ड के लाभ व उपयोग –

पैन कार्ड का उपयोग हम बैंक खाता खुलवाने में करते हैं।

पोस्ट ऑफिस में इसका प्रयोग किया जाता है।

वाहनों को खरीदने बेचने में पैन कार्ड का उपयोग करते हैं। कहीं ऐसी जगह है जहां पिन कार्ड का उपयोग किया जाता है यह हमारे लिए बहुत ही जरूरी होता है।

 पैन कार्ड कैसे बनता है?(How to make PAN card?)

 दोस्तों आज हम आपको पैन कार्ड कैसे बनता है घर बैठे यानी कि ऑनलाइन वह हम आपको बताने वाले हैं 10 मिनट में आपका पैन कार्ड बनकर तैयार हो जाएगा और फोन में आप डाउनलोड भी से कर सकते हैं आसानी से तो चलिए देखते हैं इसके लिए क्राइटेरिया है, इसे बनाने के लिए आपको आपके सामने दो ऑप्शन आएंगे जिसमें से आपको (गेट न्यू पेन) पर क्लिक करना है, उसके बाद आपको फोन से आधार कार्ड नंबर और कैप्चर नंबर कोड को देना होगा

उसके बाद (कंफर्म )पर क्लिक करके (जनरेट) आधार ऑफ ओटीपी बटन पर क्लिक करें। अब आपके मोबाइल में आधार कार्ड से संबंधित एक ओटीपी आएगा।

पैन कार्ड बनवाने के लिए कितनी उम्र आवश्यक है? (What is the age required to get a PAN card?)

  पैन कार्ड बनवाने के लिए कम से कम 18 उम्र होना आवश्यक है।

पैन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं NSDLऔर UTI पैन कार्ड में क्या अंतर है?(How many types of PAN cards are there, what is the difference between NSDL and UTI PAN cards?)

 दोस्तों हम बात करें पैन कार्ड की तो पैन कार्ड कई प्रकार के होते हैं जैसे Individual.

Company.

Trusts.

Society.

Foreigners.

Firm/partnership (LLP)

NSDL पैन कार्ड और UTI पैन कार्ड में क्या अंतर है वह आज निम्नलिखित बातों से पता चलेगा

NSDL:- NSDL बहुत ही पुरानी कंपनी है जो कि बहुत पहले आई है।

UTI:-UTI , NSDLसे बहुत बाद में आई है।

NSDL:- NSDL मैं आपको ₹107 से कम फीस नहीं लगता है जी हां दोस्तों यदि आप एनएसडीएल से अपना पैन कार्ड बनवाते हैं तो ₹107 से कम का फेस नहीं लगता है।

UTI:-UTI जबकि UTI में ₹90 रुपए 105 रुपए इस हिसाब से भी कंपनी जो भी कंपनी का आप एजेंट ID लेते हैं उस हिसाब से ही लगता है।

NSDL:- NSDL मैं पैन कार्ड डायरेक्ट बन जाता है जिसमें कि आपका अगर पैन कार्ड बनाते हैं NSDL से तो आपका या वैलेट से कटता है यानी कि 107 रूपया पड़ता है। 

UTI:-UTI मैं बनाते हैं तो आपके वैलिड से पेमेंट नहीं कट करके आपके ऊपर से कट जाता है।

PAN कार्ड क्यों जरूरी है ? (Why PAN card is necessary?)

  पैन कार्ड क्यों जरूरी है पूरे भारत के लिए आइए देखते हैं दोस्तों जैसा की आप सबको पता है पैन कार्ड का फुल फॉर्म होता है।  Permanent Account Number.   यह एक तरह का आईडेंटिफिकेशन नंबर होता है जो इंडिया के सारे टैक्स में यूज किया जाता है बैंक के एक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है जिससे एक व्यक्ति की सारी टैक्स रिलेटेड जो इंफॉर्मेशन होता है वह एक सिंगल पैन नंबर के आधार पर रिकॉर्ड होता है

और एक इंसान दो पैन कार्ड नहीं बनवा सकता यदि आप एक यदि आपके पास दो हो तो आप गलत कहलाएंगे इससे आपको जुर्माना भी भुगतान करना होगा इंडिया में पैन कार्ड उसी को मिलता है जो इंडिविजुअल हो या फिर कंपनी कोई कंपनी हो उसे ही पैन कार्ड दिया जाता है यदि आप पैन कार्ड बनवाते हैं तो यह लाइफ टाइम तक वैलिड रहता है या बहुत जरूरी होता है हर व्यक्ति के पास पैन कार्ड होना आवश्यक है।

Conclusion:-

दोस्तों हमने आज पैन कार्ड संबंधित सारी जानकारियां आपको प्राप्त करवाया उम्मीद है दोस्तों आप सब को पैन कार्ड से जुड़ी या जानकारियां अच्छी लगी होगी यदि आपको यह पसंद आए तो कमेंट बॉक्स में जरूर कमेंट कीजिए जिससे कि हम आपके लिए और अच्छी अच्छी जानकारियां उपलब्ध करते रहेंगे।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment