NRC FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है NRC, पूरी जानकारी

Spread the love
  • 1
    Share

NRC Full Form in Hindi, NRC Ka Pura Naam Kya Hai, NRC क्या है, NRC Ka Full Form Kya Hai, NRC का Full Form क्या है,  NRC meaning, NRC क्या क्या कार्य होता है।आज इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! यदि आप अब तक नहीं जानते कि NRC full form in Hindi क्या है और इसके बारे में जानने के लिए काफी उत्साहित हैं तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में NRC full form in Hindi के साथ-साथ इसकी सभी जानकारी लेकर आए हैं जिसकी मदद से आप इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

NRC full form क्या होता है? इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने NRC full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। NRC के अंतर्गत बताए जाने वाले विषय निम्नलिखित हैं –

1. एनआरसी का फुल फॉर्म क्या है?(Full Form Of NRC in Hindi)

2. एनआरसी क्या है (What Is NRC in Hindi?)

3. एनआरसी से जुड़े महत्वपूर्ण घटनाक्रम (Important Developments related to NRC in Hindi)

4. एनआरसी लागू करने की आवश्यकता (Need to Implement NRC in Hindi)

एनआरसी का फुल फॉर्म क्या है?(Full Form Of NRC in Hindi)

एन आर सी (NRC) का पूरा नाम नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन / National Register of Citizen होता है। इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि NRC को हिंदी में भारतीय राष्ट्रीय नागरिक कहा जाता है।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको NRC से जुड़ी कई जानकारियों को बताएंगे। यदि आप NRC के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो चलिए आगे बढ़ते हैं। 

एनआरसी क्या है? (What Is NRC in Hindi?)

यदि आप NRC kya hai इसके बारे में पूरी तरह से जानकारियों को जानना चाहते हैं, तो हम आपको बता दें कि NRC अर्थात नेशनल सिटीजन रजिस्टर असम में रहने वाले भारतीय नागरिकों की पहचान के लिए बनाई गई एक प्रमाण पत्र है, जिसका उद्देश्य राज्य में रह रहे हो प्रवासियों जैसे बांग्लादेशी घुसपैठियों की पहचान करना है। इस प्रक्रिया के लिए 1986 में सिटीजन एक्ट में संशोधन कर असम के लिए विशेष प्रावधान किया गया। 

इसके अलावा रजिस्टर में केवल उन्हीं लोगों का नाम शामिल किया गया हैं, जो 25 मार्च 1971 इस्वी से पहले असम के नागरिक हैं या उनके पूर्वज राज्य में आए हैं। सरकारी अवैध लोगों की पहचान के लिए ही NRC को हमारे देश में लागू करने का निश्चय किया गया है। इसका एकमात्र उद्देश्य यही है कि भारत में जो लोग सरकारी अवैध रूप से रह रहे हैं उनके नाम की लिस्ट को निकाला जाए।

असम एक ऐसा देश है जहां एनआरसी लागू हुआ है। असम के अलावा किसी अन्य देश में यह अब तक लागू नहीं किया गया है। वर्ष 1951 में पहली बार असम राज्य में नेशनल सिटीजन रजिस्टर बना था। उस वक्त राज्य की जनगणना में शामिल किए गए सभी लोगों को राज्य के नागरिक के रूप में स्वीकार किया गया था। इसके बाद कुछ सालों में एक बार फिर राज्य में इस जनगणना को अपडेट की जाने की बात हो रही थी।

इसके कुछ ही पिछले दशकों से राज्य में पड़ोसी देशों खास करके बांग्लादेश से उन अवैध घुसपैठ से वहां जनसंख्या की संतुलन बिगड़ने लगा था। इसी कारण वस वहां के सभी लोग एनआरसी को अपडेट करने की मांग कर रहे थे।

HD FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है HD, पूरी जानकारी

एनआरसी से जुड़े महत्वपूर्ण घटनाक्रम (Important Developments related to NRC in Hindi)

NRC के बारे में हमने आपको बताया और अब हम आपको बताने वाले हैं इससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण है घटनाक्रम के विषय में। बात करें एनआरसी के घटनाक्रम की तो NRC के अंतर्गत कई महत्वपूर्ण घटनाक्रम को शामिल किया गया है। प्रमुख घटनाक्रम कुछ इस तरह से हैं-

• 1951 में पहली बार एनआरसी को तैयार किया गया था। 

• 1971 ईस्वी में भारत में बहुत ही बड़ी मात्रा में बांग्लादेशी शरणार्थियों का प्रवेश हुआ तथा भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध भी हुआ था।

• 1970 से 80 के बीच असम में परिणाम स्वरुप अवैध शरणार्थियों एवं जनांकिकीय परिवर्तन तथा राज्य के सभी निवासियों के बीच जातीय सामाजिक एवं वर्ग संघर्ष शुरू हुआ।

• 1979 से 85 ईस्वी में ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (AASU) के नेतृत्व मैं असम विद्रोह प्रारंभ हुआ तथा इस विद्रोह को ऑल असम गण संग्राम परिषद का भी समर्थन दिया गया।

• 1951 इस्वी में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर का अद्यतन किया गया तथा 1985 ईस्वी में असम के समझौते पर हस्ताक्षर किया गया।

• 2012-13 ईस्वी को एनआरसी को केंद्र सरकार द्वारा अपडेट करने का निर्देश दिया गया तथा सर्वोच्च न्यायालय का हस्तक्षेप किया गया।

• एनआरसी की अंतिम सूची 31 अगस्त 2019 को जारी किया गया तथा उसमें करीबन 1900000 लोग बाहर निकाले गए तथा एनएफसी में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया।

एनआरसी लागू करने की आवश्यकता (Need to Implement NRC in Hindi)

असम में अवैध रूप से निवास कर रहे लोगों को सरकार ने निकालने के लिए नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन यानी कि  nrc अभियान को लागू किया | यह अभियान दुनिया के सबसे बड़े अभियानों में से माना जाता है । इस अभियान के अंतर्गत अवैध रूप से असम में रह रहे लोगों की पहले पहचान की जानी चाहिए उसके बाद उन्हें वापस उनके देश भेजा जाना चाहिए । जैसे कि असम में लगभग 50,00000 गैरकानूनी ढंग से रह रहे बांग्लादेशी है। जिसकी वजह से यहां आर्थिक एवं सामाजिक समस्याएं कई दर्शकों से चल रही है । NRC FULL FORM IN HINDI

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि NRC केवल उन्हीं राज्यों में लागू की गई है जहां से किसी अन्य देश के नागरिक भारत में अवैध रूप से प्रवेश किए हैं । NRC रिपोर्ट यह बताती है कि कौन से भारतीय नागरिक है और कौन भारतीय नागरिक नहीं है यदि कोई व्यक्ति भारतीय है तो उन्हें मुख्य रुप से वे सभी अधिकार प्राप्त करवाये जाएंगे जो एक भारतीय नागरिक को प्राप्त होते हैं ।

नागरिकता की समाप्ति से उत्पन्न होने वाली समस्याओं को इस तरह से देखा जा सकता है :

  1. NRC की सूची किसी व्यक्ति पर एक बार लागू होने के बाद वह व्यक्ति किसी भी देश का नागरिक नहीं रहता है ऐसी स्थिति में हर राज्य में हिंसा का खतरा बन जाता है ।
  1. ऐसे लोग जो काफी लंबे वक्त से असम में निवास कर रहे थे उनकी भारतीय नागरिकता समाप्त बाद उन्हें न ही पहले की तरह वोट देने की आज्ञा मिलेगी और न ही उन्हें किसी भी तरह की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल पाएगा तथा अपनी ही किसी भी तरह की संपत्ति पर उनका सभी तरह का अधिकार समाप्त हो जाएगा।

सभी तरह का अधिकार समाप्त होने के बाद जिन लोगों के पास भी स्वयं की संपत्ति रहेगी वह दूसरे लोगों का निशाना बनेंगे।

Conclusion

तो दोस्तों, आपको  के बारे में जानकारी हिंदी में। अच्छी लगी होगी हमे उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ कर आप NRC

 full form In Hindi (NRC मीनिंग इन हिंदी) समझ गए होंगें और अब अगर आपसे कोई पूछेगा कि NRC का मतलब क्या होता है? तो अब आप उसे NRC मीनिंग इन हिंदी बता सकेंगे।

अगर आपको हमारा ये NRC Information In Hindi पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share कीजिए और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो, तो उसे Comment में लिख कर हमें बताए।


Spread the love
  • 1
    Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  

Leave a Comment