NBA FULL FORM IN HINDI– जानिए क्या है NBA, पूरी जानकारी

Spread the love

NBA Full Form in Hindi, NBA Ka Pura Naam Kya Hai, NBA क्या है, NBA Ka Full Form Kya Hai, NBA का Full Form क्या है,  NBA meaning, NBA क्या क्या कार्य होता है।आज इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! यदि आप अब तक नहीं जानते कि NBA full form in Hindi क्या है और इसके बारे में जानने के लिए काफी उत्साहित हैं तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में NBA full form in Hindi के साथ-साथ इसकी सभी जानकारी लेकर आए हैं जिसकी मदद से आप इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

NBA full form क्या होता है? इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने NBA full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। NBA के अंतर्गत बताए जाने वाले विषय निम्नलिखित हैं –

1. NBA का फुल फॉर्म क्या है?(Full Form Of NBA in Hindi)

2. NBA क्या है? (What Is NBA in Hindi?)

3. NBA किसे मान्यता प्रदान करता है? (To whom does the NBA recognize in Hindi?)

4. NBA की मान्यता प्राप्त करने के लिए मुख्य शर्तें (Key Prerequisites for Getting NBA Accreditation in Hindi)

5. NBA की मान्यता प्राप्त करने के फायदे (Benefits of NBA Recognition in Hindi)

6. NBA के बारे में जानकारियाँ (Information about NBA in Hindi)

NBA का फुल फॉर्म क्या है?( NBA Full Form in Hindi ) 

NBA ka full form National Board of Accreditation ( नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रेडिटेशन ) होता है, जिसका हिंदी शब्दार्थ राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड होता है।

CM FULL FORM IN HINDI ? CM KA PURA NAAM

NBA क्या है? (What Is NBA in Hindi?)

भारत के शिक्षण संस्थाओं एवं उन शिक्षण संस्थाओं में पढ़ाए जा रहे syllabus को मान्यता देने के लिए NBA एवं NAAC की नींव रखी गई है, भारत में उच्च शिक्षण संस्थानों की मान्यता के लिए जो दो निकाय महत्वपूर्ण हैं, उनमें से ही एक NBA है। NAAC ( राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद ) के साथ-साथ NBA ( National Board of Accreditation ) भी भारत के उच्च शिक्षण संस्थानों की मान्यता के लिए एक महत्वपूर्ण निकाय है। NBA को शिक्षण और विज्ञान दोनों की श्रेणी में रखा गया है।

 AICTE ( All India Council for Technical Education ) के द्वारा ही 1994 में NBA की नींव रखी गई थी परन्तु वर्ष 2010 के बाद NBA को एक स्वतंत्र निकाय बॉडी के रूप में पहचान मिली। जो भी कार्य AICTE के अंतर्गत आते हैं, NBA उन सारे programmes का मूल्यांकन करके उन्हें मान्यता प्रदान करता है। NBA का head quarter दिल्ली में स्थित है।  NBA Full Form in Hindi

NBA किसे मान्यता प्रदान करता है? (To whom does the NBA recognize in Hindi?)

NBA की स्थापना मुख्य रूप से उन सारे technical programmes की गुणात्मक क्षमता का आकलन करने के लिए किया गया है जो diploma स्तर से लेकर master स्तर तक के सभी शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ाये जा रहे हैं।

 NBA बहुत से engineering एवं management के programme को मान्यता देता है, जैसे कि –

●    Engineering एवं Technical branches के programme को।

●    Management के programme को।

●    Pharmacy के programme को।

●    Tourism के programme को।

●    Architecture के programme को।

●    Hospitality के programme को।

●    Applied Arts एवं Crafts के programme को।

●    Computer Application के programme को।

●    Hotel Management एवं Catering Technology के programme को।

●    Parameters of NBA for Accreditation etc. को।

 इन सारे programmes की गुणात्मक क्षमता का आकलन एवं उन्हें मान्यता प्रदान NBA ही करता है।

NBA की मान्यता प्राप्त करने के लिए मुख्य शर्तें (Key Prerequisites for Getting NBA Accreditation in Hindi)

NAAC पूरे शैक्षणिक संस्थान को मान्यता प्रदान करता है जबकि NBA पूरे शैक्षणिक संस्थान को मान्यता प्रदान नहीं करता। यह केवल किसी particular course एवं उससे सम्बन्धित branch को ही मान्यता की स्वीकृति देता है। 

 हम Institution wise एवं Programme wise से NBA के मान्यता की स्वीकृति ले सकते हैं, इसके लिए हमें निम्न बातें ध्यान रखने की आवश्यकता होती है –

 NBA का ध्यान इस तरफ खास तौर पर होता है कि किसी भी special educational programme के लिए जिन infrastructures की आवश्यकता होती है, वह उस परिसर में उपलब्ध है या नहीं, इसके साथ ही NBA इस बात पर भी काफी गौर करता है कि वहाँ के छात्रों को इससे सम्बन्धित सभी facilities उपलब्ध कराए जा रहे हैं या नहीं। 

 NBA इस बात का भी खास ख्याल रखता है कि उस शिक्षण संस्थान में teaching एवं learning के लिए maintian की जाने वाली quality अच्छी है या नहीं। इसके अलावा यह इन बातों पर भी गौर करता है कि syllabus programme को कितना improve करने की जरूरत है एवं इसके साथ ही इसमें कौन से वैसे weakness हैं जिन्हें सुधारा जा सकता है।

  NBA curriculum के design पर भी अपना काफी focus देता है, यदि उस curriculum design में improvement की आवश्यकता होती है तो पहले से ही NBA के द्वारा गठित committee उस curriculum design में सुधार व improvement के लिए उचित सलाह देती है।

  उस शिक्षण संस्थान में computer lab, library, laboratary इत्यादि की समुचित व्यवस्था है या नहीं, इन सारे मुद्दों को मद्देनजर रखते हुए ही NBA उसे अपनी मान्यता की स्वीकृति प्रदान करता है।

NBA की मान्यता प्राप्त करने के फायदे (Benefits of NBA Recognition in Hindi)

NBA की मान्यता प्राप्त करने के बहुत से फायदे हैं –

जो भी कॉलेज या शिक्षण संस्थान NBA द्वारा मान्यता प्राप्त कर लेते हैं, वे Highest Quality के education provide करने वाले कॉलेज या शिक्षण संस्थान माने जाते हैं, इसका मुख्य कारण NBA द्वारा गठित committee का quality control पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाना है।

 अगर हम NBA की मान्यता प्राप्त किसी कॉलेज या शिक्षण संस्थान से degree प्राप्त करते हैं तो यह हमारे degree को काफी मजबूती प्रदान करता है। जब भी हम NBA की मान्यता प्राप्त कॉलेज या शिक्षण संस्थान की degree लेकर किसी job के लिए जाते हैं तो वहाँ हमारी degree अधिक valuable मानी जाती है, इससे हमें job लेने में काफी राहत एवं सहूलियत मिलती है।

 हालाँकि NBA की मान्यता प्राप्त करना किसी भी शिक्षण संस्थान का उसके खुद का निर्णय होता है परन्तु फिर भी 2017 में AICTE के द्वारा किये गए घोषणा के अनुसार यह उन शिक्षण संस्थानों को मान्यता नहीं देगा जो शिक्षण संस्थान अपने यहाँ पहले से पढ़ाए जा रहे at least आधे programme को भी मान्यता प्राप्त करवाने में सक्षम ना रह पाये हों।

NBA के बारे में जानकारियाँ (Information about NBA in Hindi)

पिछले कुछ वर्षों एवं दशक से भारतीय शिक्षा प्रणाली भी काफी विकास कर रही है और NBA इस परिवर्तन का नेतृत्व कर रहा है। भारत में पढ़ाए जाने वाले diploma, bachelor, master के प्रभावशीलता का आकलन करने के लिए NBA ही अभी तक का सबसे प्रमुख मानदण्ड है। सरकार भी इस बात से सहमत है और इसी वजह से AICTE ने भी 2022 तक engineering एवं management programme के लिए मान्यता प्राप्त करने का अधिकार NBA को ही दिया है।

 NBA का लक्ष्य अंतरराष्ट्रीय मानकों की एक मान्यता एजेंसी बनना है। वर्ष 2014 से ही यह वाशिंगटन समझौते का सदस्य है। NBA का इस समझौते का सदस्य बनना उन programmes की पर्याप्त समानता सुनिश्चित करता है जिन्हें अन्य सदस्यों द्वारा मान्यता प्राप्त है।

NBA से मान्यता प्राप्त करने की प्रक्रिया :-

NBA के महत्व को समझने के बाद अब हम NBA से मान्यता कैसे प्राप्त कर सकते हैं, इस प्रक्रिया के बारे में जानते हैं। इसके मुख्य रूप से 6 चरण हैं –

●    NBA के लिए हमें सबसे पहले तत्परता की जाँच करना एवं registration करना होता है।

●    फिर इसके लिए हमें self assessment report (SAR) तैयार करना होता है।

●    इसके बाद हमें NBA के लिए आवेदन करना एवं SAR जमा करना होता है।

●    इसके बाद NBA टीम के द्वारा इसका दौरा एवं मूल्यांकन किया जाता है।

●    इसके बाद हमें मूल्यांकन report एवं EAC द्वारा सिफारिश प्रस्तुत करना होता है।

●    इसके पश्चात academic advisory committee द्वारा accreditation अपना निर्णय लेती है।

Conclusion

तो दोस्तों, आपको  के बारे में जानकारी हिंदी में। अच्छी लगी होगी हमे उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ कर आप NBA full form In Hindi (NBA मीनिंग इन हिंदी) समझ गए होंगें और अब अगर आपसे कोई पूछेगा कि NBA का मतलब क्या होता है? तो अब आप उसे NBA मीनिंग इन हिंदी बता सकेंगे।

अगर आपको हमारा ये NBA Information In Hindi पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share कीजिए और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो, तो उसे Comment में लिख कर हमें बताए।


Spread the love

Leave a Comment