HIV FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है HIV, पूरी जानकारी

Spread the love
  • 1
    Share

HIV Full Form in Hindi, HIV Ka Pura Naam Kya Hai, HIV क्या है, HIV Ka Full Form Kya Hai, HIV का Full Form क्या है,  HIV कैसे होता है, HIV क्या क्या कार्य होता है।आज इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों आज कल की बदलती और तेज़ी से बढ़ रही दुनिया में आज हम बेशक काफी ज्यादा विकास कर चुके हो और कर भी रहे हैं लेकिन हेल्थ ऐसा सेक्टर हैं जहां लोग बिल्कुल भी अपना ध्यान नहीं देते है काफी लोग हैं जो अपनी और अपने परिवार की सेहत का पूरा ख्याल रखते हैं लेकिन वही दूसरी ओर देखा जाए कुछ लोग ऐसे भी जरूर हैं जो खुद की सेहत की ज़रा भी परवाह नहीं करते हैं, इसीलिए आप सभी जानते ही हैं की कैसे आज कल नई – नई बीमारियों का आना जाना लगा ही रहता है,

लगभग रोज ही हमें किसी न किसी नई बीमारी का पता चलता है, याने की जितनी हम लापरवाही बरतेंगे उतनी ही बीमारियों का हमला हम पर होगा, उसी तरह आज हम आपको ऐसी ही एक बीमारी के बारे में बताने जा रहे हैं जो की है HIV याने की Human Immunodeficiency Virus जो की काफी तेज़ी से फैल रहा है और लोगों को इसके बारे में ज्ञान बिल्कुल भी नही है इसीलिए आज हम आपको HIV के बारे में ही कुछ महत्पूर्ण बातें बताएंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

HIV किसे कहते हैं ? | What Is HIV | HIV Full Form in hindi | What Is The Full Form Of HIV

HIV जिसे ” Human Immunodeficiency Virus” के नाम से भी जाना जाता है, और यह CD 4 कोशिकाओं नामक प्रतिरक्षा कोशिकाओं पर हमला करता है। ये टी सेल के प्रकार हैं – सफेद रक्त कोशिकाएं जो घूमती हैं, पूरे शरीर में संक्रमण   और अन्य कोशिकाओं में दोष और विसंगतियों का पता लगाती हैं। एचआईवी सीडी 4 कोशिकाओं में घुस कर उन्हे अपना शिकार बनाता है, उनका उपयोग वायरस की अधिक प्रतियां बनाने के लिए करता है। ऐसा करने पर, यह कोशिकाओं को नष्ट कर देता है और शरीर की अन्य संक्रमणों और रोगों से लड़ने की क्षमता को कम कर देता है। 

यह अवसरवादी संक्रमण और कुछ प्रकार के कैंसर के जोखिम और प्रभाव को भी बढ़ाता है। हालांकि, यह ध्यान देने योग्य है कि कुछ लोगों को लंबे समय तक एचआईवी होता है बिना किसी भी लक्षण का अनुभव किए। HIV Full Form in Hindi

HIV एक ऐसा वायरस है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को लक्षित करता है और बदल देता है, जिससे अन्य संक्रमण और बीमारियों का जोखिम और प्रभाव बढ़ जाता है। उपचार के बिना, संक्रमण AIDS नामक एक उन्नत चरण में आगे बढ़ सकता है। चिकित्सा प्रगति के कारण, एचआईवी वाले लोग और गुणवत्ता वाले स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच वाले बहुत कम ही AIDS तक पहुंच पाते हैं या उसका सामना करते हैं लेकिन तभी जब उन्होंने एचआईवी उपचार शुरू कर दिया है।

लेकिन AIDS के बारे में भी हमारा जानना उतना ही आवश्यक है जितना की HIV के बारे में इसीलिए आइए AIDS के बारे में भी और AIDS होता क्या है और ये हमारे शरीर को कैसे प्रभावित करता है।

DNA FULL FORM IN HINDI ? DNA KA PURA NAAM

AIDS किसे कहते है ? | What Is AIDS ?

AIDS का अर्थ है Acquired Immuno Deficiency Syndrome।” यह एचआईवी संक्रमण का एक उन्नत चरण है। डॉक्टर एड्स की पहचान प्रति घन मिलीमीटर से कम 200 कोशिकाओं की CD 4 गणना के रूप में करते हैं। इसके अलावा, यदि किसी व्यक्ति को अवसरवादी संक्रमण, संबंधित प्रकार के कैंसर हैं तो वे AIDS का निदान कर सकते हैं। HIV Full Form in Hindi

जब HIV वाले व्यक्ति को समय पर उपचार नहीं मिल पाता है, तो AIDS की संभावना विकसित होती है, क्योंकि प्रतिरक्षा प्रणाली धीरे-धीरे खराब हो जाती है। हालांकि, Antiretroviral उपचारों में प्रगति की वजह से AIDS तेजी से काफी हद तक काफी मात्रा में कम हुआ है और हो रहा है।

2018 में, संयुक्त राज्य अमेरिका में एचआईवी (HIV) के साथ 1.1 मिलियन से अधिक लोग रहते थे और एड्स से संबंधित 6,000 मौतें भी हुई थीं।

HIV के मुख्य कारण क्या होते है | What Are The Main Causes Of HIV 

एचआईवी HIV  तब संचारित हो सकता है जब शरीर में वायरस युक्त तरल पदार्थ शरीर में एक पारगम्य अवरोधक के संपर्क में आते हैं या गुप्तांग जैसे नम ऊतकों में छोटे-छोटे विराम होते हैं।

विशेष रूप से, Hiv इसके माध्यम से संचारित हो सकता है:

• रक्त

• वीर्य

•  स्तन का दूध

•  मलाशय के तरल पदार्थ

•  योनि तरल पदार्थ

• पूर्व वीर्य द्रव

ये वायरस लार के माध्यम से हस्तांतरित नहीं कर सकते हैं, तो एक व्यक्ति खुले मुँह चुंबन के माध्यम से एचआईवी (HIV) अनुबंध नहीं कर सकते हैं, उदाहरण के तौर पर US.. में HIV संचरण का एक मुख्य कारण गुदा या योनि संभोग है। संचरण करने के लिए, लोग अवरोधक सुरक्षा का उपयोग नहीं करते हैं जो की बहुत ही ज्यादा जरूरी है, जैसे कि कंडोम, या Pre-Exposure Prophylaxis (PrEP) लेना यह एक उपचार है जिसका उद्देश्य ज्ञात जोखिम कारकों वाले लोगों में एचआईवी संचरण एवं उसे बढ़ने से रोकना है। HIV Full Form in Hindi

देश में एचआईवी संचरण का एक अन्य मुख्य कारण दवाओं को इंजेक्ट करने के लिए उपकरण साझा करना भी है। आमतौर पर, HIV गर्भावस्था, बच्चे के जन्म या स्तनपान के दौरान शिशुओं में पहुंच जाता है। इसके अलावा, रक्त आधान में भी संचरण की संभावना होती है, हालांकि रक्त दान प्रभावी रूप से जांचे जाने पर जोखिम बहुत कम ही होते हैं।

HIV के मुख्य कारणों को जानने के बाद भी कई लोग इसका पता नही लगा पाते हैं याने की उन्हे खुद को ये मालूम नही होता है की वे HIV से ग्रसित हैं इसीलिए अब हम आपको इसके लक्षण के बारे में भी बताएंगे।

HIV के शुरुआती लक्षण क्या होते हैं ? | What Are The Symptoms Of HIV ?

HIV से पीड़ित कुछ लोगों में वायरस के संकुचन के बाद महीनों या सालों तक कोई लक्षण नहीं होते हैं। आंशिक रूप से इसके कारण, अमेरिका में एचआईवी वाले 7 में से 1 लोग नहीं जानते थे कि उन्हें HIV जैसी बीमारी ने घेर लिया है।

हालांकि बिना किसी लक्षण वाले व्यक्ति की देखभाल करने की संभावना नहीं हो सकती है, फिर भी संचरण का एक उच्च जोखिम है। इस कारण से, विशेषज्ञ नियमित परीक्षण की सलाह देते हैं, ताकि हर कोई अपने HIV Status से अवगत हो सके।

Hiv के प्रारंभिक लक्षणों में शामिल हो सकते हैं: HIV Full Form in Hindi

• एक बुखार

• ठंड लगना

• पसीना, विशेष रूप से रात में

• दर्द में मुख्य जोड़ों का दर्द

• थकान

• दुर्बलता

• जोड़ों का दर्द सहित दर्द

• मांसपेशियों में दर्द

• थ्रश, या एक खमीर संक्रमण

• HIV के आगे बढ़ने के साथ अनजाने में वजन कम होना

ये लक्षण प्रतिरक्षा प्रणाली के परिणामस्वरूप विभिन्न प्रकार के संक्रमण से लड़ते हैं। जो की कोई भी इन लक्षणों में से एक हो सकता है और पिछले 2-6 सप्ताह में एचआईवी अनुबंधित हो सकता है, उसे अपने नजदीकी अस्पताल में या फिर अपने डॉक्टर से Test तो जरूर करवा लेना चाहिए।

हम उम्मीद करते हैं की हमारे द्वारा बताई गई प्रत्येक बातें आपको अच्छी तरह से समझ में आ ही गई होंगी अगर फिर भी आपको कोई बात नही समझ में आ पाई है या आप हमें कोई राय देना चाहते है तो आप हमें कमेंट करके दे सकते है 

HIV से कैसे बचें :- 

दोस्तों आइये अब जानते हैं कि हम एचआईवी से किस प्रकार से बचाव कर सकते हैं, एचआईवी से बचने के लिए हमें कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ता है जैसे कि-

  • HIV वायरस से बचने के लिए हमेशा अपने पार्टनर के साथ ही यौन संबंध बनाए असुरक्षित यौन संबंध बनाने से बचें। 
  • सेक्स करते समय कंडोम का प्रयोग करें। 
  • अधिक महिलाओं के साथ यौन संबंध बनाने से बचें। 
  • HIV से बचने के लिए आप समय समय पर अपना और अपने पार्टनर का टेस्ट करवाते रहें इससे एचआईवी वायरस से बचने में बहुत ही मदद मिलती है। 
  • दोस्तों जब भी आप अपना खून देने या किसी से खून लेने जाए तो हमेशा नई सुई का ही प्रयोग करें इससे HIV से बचने में बहुत ही मदद मिलेगी। 
  • खून चढ़वाने से पहले उसका HIV टेस्ट करायें।  
  • अस्पतालों में जब भी आप सुई लगवाए हमेशा नई सिरिंज का ही प्रयोग करवायें।

HIV Test की फीस :- 

दोस्तों HIV टेस्ट की फीस सभी शहरों में अलग-अलग होती है इसीलिए हम इसकी कोई एक फिक्स फीस तो नहीं बता सकते हैं परंतु हम आपको HIV टेस्ट की औसतन फीस के बारे में जरूर बताएंगे

दोस्तों यदि आप किसी अच्छे लेबोरेटरी से HIV का टेस्ट करवाते हैं तो वहां पर इस टेस्ट की औसतन फीस (800-2000) रूपये के मध्य की होती हैं। 
औसतन फीस – (800-2000) रूपये. 

HIV Test को कराने में कितना समय लगता है :- 

दोस्तों अगर आप HIV का टेस्ट करवाने जाते हैं तो वहां पर लगभग दो से तीन घंटे का समय लग जाता है अर्थात जब भी आप HIV का TEST करवाने जाए तो यह मान कर चलिए कि वहां पर आपका दो से तीन घंटे का समय लग जाएगा। 

Conclusion

तो दोस्तों, आपको  के बारे में जानकारी हिंदी में। अच्छी लगी होगी हमे उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ कर आप HIV full form In Hindi (HIV मीनिंग इन हिंदी) समझ गए होंगें और अब अगर आपसे कोई पूछेगा कि HIV का मतलब क्या होता है? तो अब आप उसे HIV मीनिंग इन हिंदी बता सकेंगे।

अगर आपको हमारा ये HIV Information In Hindi पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share कीजिए और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो, तो उसे Comment में लिख कर हमें बताए।


Spread the love
  • 1
    Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  

Leave a Comment