EMAIL FULL FORM

EMAIL FULL FORM IN HINDI ? EMAIL KA PURA NAAM

Spread the love
  • 5
    Shares

नमस्कार dosto आज हर कई इंटरनेट से जुड़ा है। इंटरनेट के बारे में आज हर कई जनता है। इंटरनेट से आज कई मूव देख रहा है तो कई इंटरनेट से कई काम कर के पैसे कमा रहा है।तो इन सभी कामो के लिये आप email का प्रयोग करते है।लेकिन आपको EMAIL FULL FORM नही पता है।तो आज मैं आप लोगों को ईमेल का फुल फॉर्म क्या होता है।आज इस लेख में पता चल गायेगा की email full form क्या होता हैं। ईमेल का फुल फॉर्म Electronic mail होता है।अगर आप से पूछे तो आप Electronic mail बतायेगा।

Email और Gmail में अंतर क्या है ( Email full form)

Email

Email एक process होती है जिसके जरिए हम internet की मदद से किसी txt massage इलेक्ट्रॉनिक मेल भेज सकते हैं जिसका मतलब होता है। किसी भी प्रकार फ़ोटो विडियो  या फिर किसी प्रकार का डॉक्यूमेंट आप pdf file के रूप में एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेज सकते हैं। इसके जरिए हम फ़ाइल का भी आदान-प्रदान कर सकते हैं ईमेल का उपयोग हम अन्य websites जैसे Yahoo आदि से भी message कर सकते है। EMAIL FULL FORM

Gmail

Gmail एक service का काम करती है जो कि google कंपनी नेबनाया है इसके जरिए हम इलेक्ट्रॉनिक मेल फ्री में भेज और प्राप्त कर सकते हैं gmail मात्र एक ऐसी इकलौती सर्विस नहीं है जिसके जरिए हम ईमेल भेज और प्राप्त कर सकते हैं इसके अलावा भी आप yahoo, rediff mail आदि services का इस्तेमाल करके e-mail का भेजा जा  सकता है

अगर हम सरल शब्दों में कहें तो gmail एक post office की तरह है जो कि चिट्ठी पहुंचाने का कार्य करता है इसके द्वारा किसी sender के द्वारा भेजा गया document या file किसी दूसरे लोग जो अपना email account बना रखा है उसे receive करना होता है। जो की post office की चिट्ठी तरह भेजी जाती है, मतलब email एक प्रकार के letter का कार्य करती है जिसमें एक message होता है। तो, हम इसे कह सकते हैं कि जीमेल एक “पोस्ट ऑफिस” होता है और ईमेल एक “खत” होता है।

Email का आविष्कार किसने किया

   दोस्तों ईमेल का आविष्कार एक भारतीय युवक ने किया था जिसका नाम वीए शिवा अय्यदुरई है।अय्यदुरई का जन्म मुंबई के एक तमिल परिवार में हुआ था. जब वह सात वर्ष की आयु में वह अपने परिवार के साथ अमेरिका चले गए. अमेरिकी सरकार ने ईमेल का आविष्कार का पेटेंट 30 अगस्त 1982 को अय्यदुरई को दिया गया। ईमेल का खोज सबसे पहले हुआ वर्ष 1978 में किया गया था

Email का फायदा और नुकसान

वैसे तो देखा जाए तो ईमेल के बहुत सारे फायदे हैं इसके बावजूद भी बहुत सारे नुकसान भी है तो मैं आज आप लोगों को ईमेल के तीन फायदे और तीन नुकसान के बारे में बहुत ही विस्तार से बताऊंगा तो इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़े हैं और इसके फायदे और नुकसान जाने

Email के तीन फायदा

कम लागत

ई-मेल की मदद से आप कम लागत और कम पैसे में अपने मैसेज को एक स्थान से दूसरे स्थान बहुत ही आसानी के साथ भेज सकते हैं देखा जाए तो टेलीफोन के हिसाब से बहुत ही कम कीमत में आप अपने मैसेज को एक दूसरे को भेज सकते हैं

पर्यावरण पर प्रभाव को कम करने में मदद करें

पहले के लोग अपने लेटर को लिखने के लिए कागज का प्रयोग करते थे इस कारण पर्यावरण का बहुत बड़ा नुकसान होता था तो आज के इस युग में ईमेल का प्रयोग करके आप कागज से बच सकते हैं अपने मैसेज को एक स्थान से दूसरे स्थान पर मिनटों में पहुंचा सकते हैं इसके लिए आप ईमेल का प्रयोग  कर सकते हैं

गति

मैसेज भेजने का एक ईमेल एक ऐसा माध्यम है जो आपने मैसेज को बहुत ही कम समय में  एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाया जा सकता है 

Email के तीन नुकसान

इंटरनेट तक पहुंच होना आवश्यक है

 ई-मेल का सबसे बड़ा नुकसान उन लोगों को है जो इंटरनेट से वंचित हैं और जिनको इंटरनेट का मालूम नहीं है वह ईमेल का प्रयोग ना के बराबर कर सकते है

यह वायरस के प्रसार की सुविधा प्रदान करता है

ई-मेल का एक और भी बड़ा नुकसान है जोकि ईमेल के माध्यम से आपके कंप्यूटर या मोबाइल फोन में वायरस आने की सुविधा अधिक हो जाती है।

जानकारी को गलत ईमेल पर भेजने की अनुमति देता है

वैसे तो देखा जाए तो ईमेल का एड्रेस कुछ सभी ईमेल एक समान होते हैं इस समानता को देखते हुए ई-मेल अगर गलत पते पर चला जाए तो आपको नहीं पता होगा जिस कारण आपको अपने ईमेल एड्रेस को चेक करना होता है

aur jankari

CSC का FULL FORM क्या होता है ? CSC क्या है ? CSC का कार्य


Spread the love
  • 5
    Shares
  • 5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *