DGO FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है DGO, पूरी जानकारी

Spread the love
  • 1
    Share

DGO Full Form in Hindi, DGO Ka Pura Naam Kya Hai, DGO क्या है, DGO Ka Full Form Kya Hai, DGO का Full Form क्या है,  DGO meaning, DGO क्या क्या कार्य होता है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! क्या आप अब तक नहीं जानते कि DGO full form in Hindi क्या है और इसके बारे में जानना चाहते हैं? यदि आपका जवाब हां है तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में DGO full form in Hindi के अलावा इसकी सभी जानकारी लेकर आए हैं जिसकी मदद से आप इसके सभी पहलुओं की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

DG full form क्या होता है? इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने PG full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। इसके अंतर्गत आने वाली विषयों की प्रमुख सूची निम्नलिखित है –

1. DGO का full form क्या होता है ? (DGO FULL FORM IN HINDI ?)

 DGO ka full form in Hindi डिप्लोमा इन गायनेकोलॉजी ऐंड ऑब्स्टेट्रिक्स (Diploma in Gynecology and Obstetrics) है। जिसका साधारण सा मतलब स्त्री रोग विशेष से है। यह कोर्स प्रसूति एवं स्त्री रोग से संबंधित है।

2. DGO क्या है? (What is DGO in Hindi?)

DGO ka full form in Hindi कोर्स प्रसूति एवं स्त्री रोग स्पेशलिस्ट को महिला प्रजनन अंगों के स्वास्थ्य की देखभाल और गर्भावस्था के प्रबंधन में निपुण बनाता है।

प्रायः ऐसा देखा जाता है कि जब भी किसी व्यक्ति को किसी तरह की स्वास्थ्य की समस्या हो तो वह डॉक्टर के पास जाता है। लेकिन शरीर की विभिन्न तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए आज भिन्न भिन्न डॉक्टर होते हैं। जो उस समस्या का विशेषज्ञ होता है और वह व्यक्ति की परिस्थिति को गहराई से अध्ययन करके उसका सही इलाज करता है।

ठीक उसी प्रकार एक शाखा होती है गाइनेकोलॉजी (Gynecology)।

गायनेकोलॉजिस्ट को स्त्री रोग विशेषज्ञ भी कहा जाता है जो महिलाओं की विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान करने में सहायक होती है।

स्त्री रोग और प्रसूति में डिप्लोमा एक डिप्लोमा कोर्स है जो MBBS या BAMS कोर्स पूरा होने पर किया जा सकता है।

BDC FULL FORM IN HINDI ? BDC KA PURA NAAM

3. DGO Course कितने साल में होता है? (In how many years does the DGO Course take place in Hindi?)

DGO ka full form in Hindi एक पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा कोर्स है। जो 2 या 2 साल से अधिक समय तक चलता है जो 4 सेमेस्टर में विभाजित होता है। पाठ्यक्रम का अधिकांश भाग प्रसूति देखभाल, महिला प्रजनन तथा अन्य  बीमारियां से संबंधित होता है।

इस कोर्स के जरिए स्त्री स्वास्थ्य देखभाल और मातृत्व देखभाल के बढ़ते मांग के कारण अध्ययन में स्नातकों के लिए रोजगार का अवसर खुल रहा है। जिसमें वेतन काफी बेहतर दी जाती है।

स्त्री रोग एवं प्रसूति में डिप्लोमा एक विशेषज्ञता का डिप्लोमा कोर्स है जो स्त्री रोग में रुचि रखने वाले करते है। पाठ्यक्रम की अवधि 2 वर्ष है जिसमें 4 सेमेस्टर शामिल है।

यह कोर्स मुख्य रूप से महिला प्रजनन अंगों के साथ काम करने वाली सर्जिकल विशेषता के पाठ्यक्रम पर केंद्रित है।

MBBS BAMS में न्यूनतम 50 फ़ीसदी अंक के साथ एक उम्मीदवार इस पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए योग्य होता है।

स्त्री रोग विशेषज्ञ महिला अंग और प्रजनन प्रणाली के स्वास्थ्य से संबंधित चिकित्सा विज्ञान की शाखा में विशेषज्ञ होता है।

स्त्री रोग विशेषज्ञ, महिलाओं के स्वास्थ्य पर केंद्रित होते हैं, महिलाओं के लिए एक प्राथमिक चिकित्सक के रूप में कार्य करते हैं।

इनको प्रजनन प्रणाली में रोग के निदान और उपचार के लिए प्रशिक्षित करते है। स्त्री रोग विशेषज्ञ गर्भावस्था, यौन स्वास्थ्य और बांझपन या प्रजनन कैंसर जैसी गंभीर प्रजनन समस्याओं के उपचार में अहम भूमिका निभाते हैं।

4. DGO किन विषयों पर किया जाता है? (DGO is done on which subjects in Hindi?)

स्त्री एवं प्रसूति रोग से संबंधित पाठ्यक्रमों में अंडरग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट दोनों तरह के कोर्स शामिल होते हैं। अंडरग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश पाने के लिए छात्र को 12वीं/इंटरमीडिएट की परीक्षा साइंस स्ट्रीम (फिजिक्स, केमिस्ट्री व बायोलॉजी) के साथ पास होना जरूरी  होता है।

इसके बाद मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है। यदि छात्र इस प्रवेश परीक्षा में सफल होते हैं, तो ये एमबीबीएस प्रोग्राम में दाखिल हो सकते है। DGO FULL FORM IN HINDI

5. DGO Course के बाद बेस्ट करियर ऑप्शन क्या है? (What is the best career option after DGO course in Hindi?)

DGO ka full form in Hindi कोर्स, स्त्री रोग विशेषज्ञ का काम महिला जननांग, मूत्र और मलाशय के अंगों से संबंधित बीमारी और मुद्दों की पहचान करना होता है, रोगी को ठीक करना और यदि आवश्यक हो, रोगग्रस्त अंग को हटाने के लिए आवश्यक चिकित्सा सर्जरी करते हैं।

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए, उम्मीदवारों को डॉक्टर ऑफ मेडिसिन/ मास्टर ऑफ सर्जरी/ डिप्लोमेट ऑफ मेडिसिन या स्त्री रोग में डिप्लोमा कोर्स करना पड़ता है।

इसके अलावे लगभग साढ़े चार साल का एमबीबीएस पाठ्यक्रम और एक साल की इंटर्निशप करने के बाद गायनेकोलॉजी में पोस्टग्रेजुएट कर सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम्स 3 साल की अवधि के होते हैं। स्त्री रोग (डीजीओ) पाठ्यक्रम में डिप्लोमा 2 वर्ष की अवधि का होता है।

पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम के लिए चयनित अभ्यर्थियों का प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। निजी मेडिकल कॉलेजों के मामले में संस्थान द्वारा प्रवेश परीक्षाएं आयोजित होती हैं। स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास जॉब की कोई कमी नहीं होती है।

6. DGO कोर्स की सूची क्या है? (What is the DGO course list in Hindi?)

पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम के लिए प्रोफेशनल्स के पास एमबीबीएस की डिग्री होती है। इसके बाद ही एमएस, एमडी व डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश मिलता है। कोर्स पूरा होते ही मेडिकल एसोसिएशन में रजिस्ट्रेशन कराया जाता है।

DGO ka full form in Hindi, कोर्स से जुड़ी जानकारी गायनेकोलॉजी बनने के लिए प्रोफेशनल्स को एमबीबीएस के बाद 2 वर्षीय सुपर स्पेशलिस्ट प्रोग्राम करना आवश्यक होता है।

इस कोर्स के जरिए प्रोफेशनल्स को गायनोकोलॉजी से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान की जाती है। कुछ प्रमुख कोर्स – एमएस इन गायनेकोलॉजी ऐंड ऑब्स्टेट्रिक्स एमडी इन गायनेकोलॉजी ऐंड ऑब्स्टेट्रिक्स डिप्लोमा इन गायनेकोलॉजी ऐंड ऑब्स्टेट्रिक्स है| DGO FULL FORM IN HINDI

7. DGO post में काम और वेतन:

एक गायनेकोलोजिस्ट सरकारी अस्पतालों से लेकर निजी अस्पतालों, क्लीनिक, आदि में काम कर सकता हैं। इसके अलावा मेडिकल स्कूल या संस्थान में बतौर गायनेकोलोजी लेक्चरर के रूप में काम कर सकता हैं तथा खुद का क्लीनिक भी खोल सकता हैं।

स्त्री रोग विशेषज्ञ का वेतन शैक्षिक डिग्री, एक्सपीरियंस, रोजगार के स्थान पर भी निर्भर करता है। एक फ्रेशर का वेतन 15000 से 30000 रूपए प्रतिमाह तक हो सकता है। वहीं चार−पांच वर्षों के अनुभव के बाद सैलरी 40000 से 80000 रूपए प्रतिमाह हो जाती है। सीनियर लेवल पर यह सैलरी 100000 से 200000 प्रतिमाह हो जाती है।

हम उम्मीद करते है कि आपको हमारा यह लेखन पसंद आई होगी और आपको आपके प्रश्न DGO का Full Form का जवाब मिल गया है। DGO FULL FORM IN HINDI

Conclusion

तो दोस्तों, आपको  के बारे में जानकारी हिंदी में। अच्छी लगी होगी हमे उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ कर आप DGO full form In Hindi (DGO मीनिंग इन हिंदी) समझ गए होंगें और अब अगर आपसे कोई पूछेगा कि DGO का मतलब क्या होता है? तो अब आप उसे DGO मीनिंग इन हिंदी बता सकेंगे।

अगर आपको हमारा ये DGO Information In Hindi पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share कीजिए और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो, तो उसे Comment में लिख कर हमें बताए।


Spread the love
  • 1
    Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  

Leave a Comment