June 21, 2021
cm full form

CM FULL FORM IN HINDI ? CM KA PURA NAAM

Spread the love
  • 1
    Share

CM Full Form in Hindi, CM Ka Pura Naam Kya Hai, CM क्या है, CM Ka Full Form Kya Hai, CM का Full Form क्या है,  CM meaning, CM क्या क्या कार्य होता है।आज इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! क्या आप नहीं जानते कि CM full form in Hindi क्या है और इसके बारे में जानना चाहते हैं? यदि आपका जवाब हां है तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में CM full form in Hindi के अलावा इसकी सभी जानकारी लेकर आए हैं जिसकी मदद से आप CM के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल कर पाएंगे।

CM full form क्या होता है? इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने CM full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। इसके अंतर्गत बताए जाने वाले विषय निम्नलिखित हैं –

1. CM full form kya hai? पूरी जानकारी हिंदी में (CM ka full form kya hai in Hindi?)

2. किसी राज्य का CM कैसे चुना जाता है? (How is the CM of a state selected in Hindi?)

3.  बहुमत क्या होता है? (What is majority in Hindi?)

4. गठबंधन सरकार क्या होता है? (What is a coalition government in Hindi?)

5. CM बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? (What is the qualification required to become a CM in Hindi?)

6. CM का कार्य क्या होता है? (What is the function of CM in Hindi?)

7. CM की Salary कितनी होती है? (What is the salary of CM in Hindi?)

CM full form kya hai? पूरी जानकारी हिंदी में (CM ka full form kya hai in Hindi?)

CM full form kya hai? की बात करें तो हम आपको यह बता दें कि CM full form “Chief Minister” है। इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि CM को हिंदी में “मुख्यमंत्री” कहा जाता है। जिस तरह किसी देश का मुखिया प्रधानमंत्री होता है ठीक उसी प्रकार एक राज्य का मुखिया मुख्यमंत्री होता है। 1935 अधिनियम के तहत जिस तरह पूरे देश की जनता का एक मुख्य व्यक्ति जो पूरे देश को चला सके वह प्रधानमंत्री होता है। उसी तरह किसी राज्य का कोई मुख्य व्यक्ति मुख्यमंत्री होता है। जो राज्य के सभी प्रकार के कार्यों के लिए जिम्मेदार होता है।

यदि किसी राज्य में किसी योजना को जनता के जनहित के लिए लागू करना है तो उसके लिए जिन जिन दस्तावेजों को पास करवाना है वह सब राज्य के CM के द्वारा ही किया जाता है। राज्य के मुख्यमंत्री का कार्य यह भी होता है कि राज्य में कहां और कितनी डेवलपमेंट करनी है तथा इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर राज्य सरकार द्वारा आर्थिक फैसले लिए जाते हैं तथा उन सभी विकासशील कार्यों को करने की मंजूरी दी जाती है। 

SDM FULL FORM IN HINDI ? SDM MEANING IN HINDI ? SDM MEANING IN POLICE

किसी राज्य का CM कैसे चुना जाता है? (How is the CM of a state selected in Hindi?)

जब भी किसी राज्य में CM का चुनाव किया जाता है तो उस राज्य का CM  राज्य की जनता के द्वारा ही चुना जाता है। उस चुनाव की सारी जिम्मेदारी केवल चुनाव आयोग की होती है जब पिछले सरकार का कार्यकाल पूर्ण रूप से खत्म होने वाला होता है। यह कार्यकाल केवल 5 वर्ष का होता है। 5 वर्षों के समाप्ति के दौरान चुनाव आयोग के द्वारा राज्य में चुनाव की घोषणा की जाती है।

चुनाव की तिथि की घोषणा के बाद ही वहां एक आचार सहिता लगाई जाती है जिसमें सभी दलों की पार्टियों को कुछ पाबंदियों तथा नियमों का पालन करना होता है। चुनाव में जो पार्टी विजेता होती है उसे सरकार पद पर बैठने के लिए आमंत्रित किया जाता है तथा उन्हें संविधान की रक्षा के लिए शपथ दिलाई जाती है।

बहुमत क्या होता है? (What is majority in Hindi?)

आज के समय में भी ऐसे कई लोग हैं जिन्हें बहुमत क्या होता है? इसके बारे में कोई भी basic जानकारी नहीं होती है। यदि आप भी इन्हीं किसी लोगों में से एक हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं कि बहुमत क्या होता है। किसी भी सरकार के लिए बहुमत वह अंक होता है जो वोट के total numbers के आदेश से एक अंक या उससे अधिक अंक होता है। 

जैसे उदाहरण के लिए हम मान लेते हैं कि किसी राज्य में वोट हो रहा हो जहां total seats 100 है। ऐसी स्थिति में किसी भी पार्टी को जीतने के लिए या सरकार बनने के लिए कम से कम 51 या उससे अधिक सीट की आवश्यकता होती है तभी कोई पार्टी को राज्यपाल द्वारा सरकार बनने के लिए आमंत्रित किया जाता है। यदि बहुमत की संख्या पार्टी को चुनाव के द्वारा नहीं मिल पाती है तो उन्हें अन्य किसी सहयोगी पार्टियों के साथ मिलकर बहुमत के आंकड़े प्राप्त करने की आजादी होती है और वे सरकार बना सकते हैं।

गठबंधन सरकार क्या होता है? (What is a coalition government in Hindi?)

गठबंधन करने के लिए कैबिनेट में उन दलों के लोग शामिल होते हैं जिनके साथ उन पार्टी का गठबंधन बना हुआ होता है। ऐसे सरकार में जितने भी निर्णय होते हैं वहां सभी के विचार विमर्श तथा सहमति के आधार पर ही लिए जाते हैं। परंतु कई बार यह देखा गया है कि गठबंधन की सरकार हमेशा गिर जाए करती है।

गठबंधन की सरकार को बनाने के लिए यह कारण बताया गया है कि कई बार किसी पार्टी के पास उतने बहुमत का आंकड़ा नहीं हो पाता है जितने की आवश्यकता होती है। इसी कारण से वह पार्टी अकेली किसी सरकार को नहीं बना पाती है तथा वह संसद में अपनी बहुमत साबित नहीं कर पाते इसी वजह से बहुमत के आंकड़े को प्राप्त करने के लिए कोई पार्टी अन्य पार्टियों के साथ एक गठबंधन में जुड़ जाती है और बची हुई सीट्स को प्राप्त करती है ताकि वह पार्टी बहुमत के आंकड़ों तक आसानी से पहुंच जाए।

CM बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? (What is the qualification required to become a CM in Hindi?)

कई लोगों को यह जानकारी नहीं होती है कि सीएम बनने के लिए कौन-कौन सी योग्यता होनी आवश्यक है। किसी भी राज्य का सीएम बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए यह सवाल यदि आपके मन में भी हो तो हम आपको बताते हैं कि इसके लिए कौन-कौन सी योग्यता होती है।  हमारे भारतीय संविधान में राज्य के सीएम की योग्यता को लेकर कुछ भी नहीं बताया गया है।

यदि आप अधिक पढ़े लिखे नहीं हैं और आप सीएम के पद पर बैठने के काबिल है तो इसके लिए एक रूल अवश्य है। आपका भारतीय नागरिक होना आवश्यक है। तभी आप राज्य के मुख्यमंत्री के पद पर बैठ सकते हैं।

अब ऐसा भी नहीं है कि कोई भी व्यक्ति मुख्यमंत्री के पद पर आसानी से बैठ सकता है। CM के पद पर बैठने के लिए किसी व्यक्ति को सबसे पहले अपने और अपनी पार्टी को लेकर चुनाव लड़ना होता है तथा राज्य के चुनाव में बहुमत का आंकड़ा लाना होता है। जब आपकी पार्टी के पास मोहम्मद का कोई आंकड़ा होगा तभी उस पार्टी को राज्य के राज्यपाल के द्वारा सरकार बनने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

CM का कार्य क्या होता है? (What is the function of CM in Hindi?)

 राज्य की सबसे बड़ी ताकत उस राज्य के CM को ही दी जाती है।

  1. किसी CM का सबसे पहला काम एक मंत्री परिषद बनाना होता है तथा उसके लिए सभी सदस्यों की उचित नियुक्ति करना भी होता है।
  2. CM मंत्री परिषद के सदस्यों की संख्या को निश्चित करता है इसके लिए CM को पूरी स्वतंत्रता दी जाती है।
  3. CM का कार्य सभी पद के लिए मंत्री तथा विभाग को बांटने का होता है।
  1. CM के द्वारा ही किसी मंत्री परिषद की अध्यक्षता को किया जाता है इसके अलावा और किसी को सीएम के रहते यह अधिकार प्राप्त नहीं होता है।
  2. CM के द्वारा ही किसी भी राज्य सरकार में मंत्री परिषद की बैठक को बुलाया जाता है।
  3. CM तथा मंत्री परिषद के बीच सभी कार्य राज्यपाल द्वारा किया जाता है।
  4. किसी भी प्रकार के निवेश से संबंधित विकास के कार्य के निर्णय तथा उसकी चर्चा सीएम की अध्यक्षता में की जाती है।
  5. राज में जितनी भी योजनाएं लाई जाती है वह सब मंत्री परिषद तथा मुख्यमंत्री के साथ चर्चा के बाद ही लागू की जाती है.
  6. CM के कहने पर ही राज्यपाल सभी उच्च अधिकारियों की नियुक्ति करता है।
  7. मुख्यमंत्री अपने पार्टी का मेन अध्यक्ष होता है।

CM की Salary कितनी होती है? (What is the salary of CM in Hindi?)

यदि हम मुख्यमंत्री की सैलरी के बारे में कहे तो सभी राज्यों में CM की salary भिन्न-भिन्न होती है। मुख्यमंत्री को कितनी सैलरी मिलनी चाहिए इसका अधिकार विधानसभा के पास होता है। यदि हम मुख्यमंत्री कि लगभग सैलरी मानकर चलते हैं तो वह 55000 होती है। इसके अलावा उनको दो लाख यात्रा के लिए 30,000 सचिवालय के लिए तथा 1500 रोजाना खर्च के लिए अलग से दिया जाता है। यानी कि मुख्यमंत्री को कूल 286500 के करीब सैलरी मिलती है।

मैं आशा करती हूं कि अब आप यह जान गए होंगे की CM कौन होते हैं उनका कार्यकाल कितने वर्षों का होता है उनकी सैलरी कितनी होती है उनकी कौन-कौन से जिम्मेदारियां होती हैं उनके कौन-कौन से कार्य होते हैं तथा एक CM बनने के लिए कौन-कौन सी योग्यता का होना आवश्यक है? यदि इस पोस्ट से संबंधित और कुछ भी जानकारी आपके पास हो तो उन जानकारियों को नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के जरिए आप हम तक पहुंचा सकते हैं तथा यदि किसी के मन में इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल हो तो आप उसे भी कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते हैं। धन्यवाद…


Spread the love
  • 1
    Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *