AMUL FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है AMUL, पूरी जानकारी

Spread the love

AMUL Full Form in Hindi, AMUL Ka Pura Naam Kya Hai, AMUL क्या है, AMUL Ka Full Form Kya Hai, AMUL का Full Form क्या है,  AMUL meaning, AMUL क्या क्या कार्य होता है।आज इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

आज के समय में हर भारतीय परिवार अमूल शब्द से परिचित होगा| अमूल ब्रांड एक ऐसा ब्रांड जो की दूध और दूध से बने पदार्थों का निर्माण करता है|  लेकिन आज भी अधिकतर लोग अमूल की फूल फॉर्म नहीं जानते होंगे | इस आर्टिकल के जरिए हम आपको अमूल ब्रांड से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां सांझा करने की कोशिश करेंगे |

1. AMUL का फुल फॉर्म क्या है? ( AMUL Full Form in Hindi ?)

Amul की फूल फॉर्म है “Anand Milk Union Limited” और हिंदी में इसे आणंद सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ के नाम से पुकारा जाता है | ये नाम काफी सोच विचार के बाद रखा गया है | लेकिन आज जिस अमूल ब्रांड को लोग अपने घर में बरतते हैं उसके बारे में संपूर्ण जानकारी तक नहीं रखते | जिसे बताने का काम हम इस लेख में करेंगे | आपको इस आर्टिकल में अमूल का मतलब, इतिहास, अमूल के उत्पाद और अमूल कंपनी के विकास के बारे में बताया गया है | AMUL Full Form in Hindi

DDT FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है DDT, पूरी जानकारी

2. AMUL क्या है? (What is the meaning of ‘AMUL’ in Hindi?)

अब आपको अमूल ब्रांड का साधारण शब्दों में अर्थ बताते हैं AMUL क्या है? अमूल एक दूध उत्पाद सहकारी डेयरी कंपनी है जिसकी शुरूआत 14 दिसम्बर 1946 को ही भारत के गुजराज राज्य के खेड़ा जिले के एक छोटे से गांव आणंद से हुई थी | जब किसी को उम्मीद भी शायद ही होगी कि ये नाम हर घर में गुंजेगा | क्योंकि शुरूआत में बहुत ही छोटे दायरे में इसकी शुरूआत हुई थी केवल कुछ ही कर्मचारी मिलकर इस कंपनी को आगे बढ़ाने में लगे थे | लेकिन समय की करवट के साथ ही कंपनी ने भी करवट ली और ऊंचाईयों पर है | AMUL Full Form in Hindi

3. AMUL का इतिहास क्या है ? (What is History of ‘AMUL’ brand in Hindi?)

इसके सफल होने के पीछे कई लोगों का हाथ है लेकिन मुख्यतौर पर इसके सफल होने का श्रेय अमूल कंपनी के संस्थापक श्री वर्गीज कुरियन को दिया जाता है | आपको जानकर अतिगर्व होगा कि वर्गीय जी की मेहनत के दम पर ही 1990 के दशक में भारत दूध आयातक देश से दूध निर्यातक देश बन पाया था | इस समय देश में एक नई क्रांति ने जन्म लिया था |

समय के साथ होते बदलाव और मार्किट में एक अच्छी पकड़ बनाने के बाद amul कंपनी ने भी लोगों के विश्वास को कायम रखने के लिए हमेशा अपनी क्वालिटी और क्वांटीटी पर ध्यान रखा जिसका ही परिणाम है कि आज भी लोग आंखे बंद कर दूध या दूध से बनी चीजों को खरीद लेते हैं | लोगों को एक अच्छा उत्पाद मिल सके इसके लिए स्पेशल लोगों की टीम को रखा जाता है ताकि लोगों की सेहत से खिलवाड़ ना हो सके|

संस्थान में ना केवल दूध का उत्पादन किया जाता है साथ ही इसके लिए एक शौध विभाग के कर्मचारी भी काम करते हैं जोकि एक अच्छी नस्ल की गाय और भैंसों की खोज करते हैं | साथ ही पशुओं किसी तरह की बीमारी ना हो इसके लिए समय-समय पर दवाईयां या टीकाकरण दिया जाता है | पशुओं को एक अच्छा और पोष्टिक आहार दिया जाता है ताकि कंपनी को अच्छी मात्रा में दूध मिल सके |

कंपनी में शोक की लहर उस समय दौड़ पड़ी थी जब कंपनी के संस्थापक श्री वर्गीज कुरियन ने 09 सितंबर, 2012 में गुजरात के ही आणंद के पास नाडियाड कस्बे में अपने प्राण छोड़ दिए थे |उनके बाद amul कंपनी का जिम्मा amul के सीईओ श्री एस आर सोढी पर है | जोकि लोगों का विश्वास कायम रखने के लिए लग्न से काम कर रहे हैं|

आप में से अधिकतर लोग ये भी जानते होंगे कि amul कंपनी उस समय सुर्खियों में आई थी जब इसके द्वारा एक विज्ञापन तैयार किया था जिसपर एक बच्ची की तस्वीर छापी गई थी | आज भी इसी विज्ञापन की बदौलत amul दुनिया भऱ में मशहूर है |सबसे लंबे समय से चल रहे विज्ञापन का गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड अमूल विज्ञापन के नाम ही है|

Amul company progress की बात करें तो यह बता दें कि दिन दुगनी रात चौगनी तरक्की करती अमूल कंपनी के तीन मिलियन से अधिक दुग्ध उत्पादक केंद्र है| इस कम्पनी का व्यापार चालीस से अधिक देशों में है | यहां तक की साल 2014 और 2015 में इसका रेवेनुए तीन बिलियन डॉलर से अधिक पहुँच गया था | रोजगार प्रदान करने के क्षेत्र में भी अमूल कंपनी ने काबिले तारीफ काम किया है | आज कई करोड़ लोग अमूल कंपनी में काम कर अपना गुजर बसर कर रहे हैं | महिलाएं और पुरुष दोनों ही अमूल कंपनी में काम कर रहे हैं |

आज एक साधारण से शब्द को ब्रांड बनाया गया है | शुरूआत में मार्किट में अपनी पहचान बनाने के लिए एक नाम की जरूरत थी तब कंपनी ने कई अपने कर्मचारियों और अधिकारियों से सुझाव मांगे थे जोकि उनके उत्पाद को सूट कर सके तो इस दौरान कंपनी के नाम के लिए कई सुझाव दिए गए और इन्ही में से एक नाम था ‘अमूल्य’ | जिसको लेकर जब काफी विचार किया गया तो कंपनी प्रबंधक ने अमूल्य शब्द से ‘य’  हटाने का फैसला किया और नाम रखा अमूल ‘amul’| अमूल्य का अर्थ होता है अनमोल| AMUL Full Form in Hindi

4. AMUL Brand के उत्पाद क्या है? (What are the Products of ‘AMUL’ brand in Hindi?)

केवल दूध ही नहीं अब लोगों की डिमांड को देखते हुए अमूल कंपनी ने अपने पैर और पसारे हैं | आज मार्किट में दूध के साथ-साथ अमूल के कई उत्पाद मिलते हैं |  जिसे लोगों द्वारा काफी पसंद भी किया जाता है |‘AMUL’ brand के अंतर्गत दूध,छाछ,दही,चीज़,मक्खन,घी, श्रीखण्ड और चॉकलेट का उत्पादन किया जाता है। लेकिन इन सब में से जो आज लोगों की पहली पसंद है वो है अमूल बटर और दूध जिसको देशभर में सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है |

‘AMUL’  competitors :

आज प्रतिस्पर्धा के इस दौर में ‘AMUL’  के साथ-साथ मार्किट में अन्य कई नाम हैं | जोकि दूध के साथ-साथ कईं उत्पादों का निर्माण करते हैं |  इन्में से मुख्यतौर कई प्रसिद्ध कंपनियां है जिनका नाम है verka, mother dairy, ananda आदी | जोकि बाजार में अमूल कंपनी को टक्कर देने का काम करती हैं | इस लेख के जरिए उम्मीद की जाती है कि आप विश्व प्रसिद्ध कंपनी ‘AMUL’  के बारे में सभी मुख्य जानकारियां हांसिल करने में सक्ष्म हो पाएं हैं |

Conclusion

तो दोस्तों, आपको  के बारे में जानकारी हिंदी में। अच्छी लगी होगी हमे उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ कर आप AMUL full form In Hindi ( AMUL मीनिंग इन हिंदी) समझ गए होंगें और अब अगर आपसे कोई पूछेगा कि AMUL का मतलब क्या होता है? तो अब आप उसे AMUL मीनिंग इन हिंदी बता सकेंगे।

अगर आपको हमारा ये  AMUL Information In Hindi पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share कीजिए और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो, तो उसे Comment में लिख कर हमें बताए।


Spread the love

Leave a Comment