ALU FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है ALU, पूरी जानकारी

Spread the love

ALU Full Form in Hindi, ALU Ka Pura Naam Kya Hai, ALU क्या है, ALU Ka Full Form Kya Hai, ALU का Full Form क्या है,  ALU meaning, ALU क्या क्या कार्य होता है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में दिया जाएगा। 

दोस्तों! ALU का नाम तो आपने पहले भी कई बार सुना ही होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि ALU full form in Hindi क्या है? यदि नहीं तो ALU के बारे में जानना आपके लिए बेहद जरुरी और फायदेमंद हो सकता है क्योंकि यह आमतौर पर आज के आधुनिक समय में लोगों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द हैं जो आपकी जीवनशैली के साथ साथ कार्य प्रणाली में भी काफी मदद कर सकते हैं।

यदि आप अब तक नहीं जानते कि ALU full form in Hindi क्या है तो हम आपके लिए इस आर्टिकल में ALU full form in Hindi के साथ-साथ इससे जुड़ी जानकारी लेकर आए हैं, जिसकी मदद से आप इसके बारे में सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको ALU full form क्या होता है?, ALU का क्या मतलब है?, ALU से जुड़े काम क्या हैं? जैसी सभी जानकारियां बताने वाले हैं। इसे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें क्योंकि यहां हमने ALU full information in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई है। ALU के अंतर्गत आने वाली हर बात और कार्य यहां निम्नलिखित हैं –

ALU का फुल फॉर्म क्या है?( ALU Full Form in Hindi) 

ALU का पूरा नाम यानि फुल फॉर्म Arithmetic Logical Unit होता है जिसका हिन्दी अर्थ अंकगणितीय तर्क इकाई होता है। 

ALU क्या है? (What is ALU in Hindi?)

ALU (Arithmetic Logical Unit) अंकों से जुड़ी कामों में इस्तेमाल होने वाले एक टेक्नोलॉजिकल तरीका होता है। किसी भी कम्प्यूटर के सीपीयू (CPU) या जीपीयू (जीपीयू) में मौजूद एक एकीकृत सर्किट होता है जो अंकों की गणित और तर्क संचालन का कार्य करता है। जोड़, घटाव, स्थानांतरण जैसे कार्य अंक गणित में आते हैं तो NOT, OR, AND, XOR जैसे निर्देश तर्क संचालन की सूची में शामिल होते हैं। हर CPU में एक जटिल और शक्तिशाली ALU सामान्य रूप से होता ही है।

ALU किस प्रकार काम करता है? (How does ALU work in Hindi?)

अंक गणित के जोड़, घटाव के साथ पूर्णांक से जुड़े काम भी ALU में आसानी से कर सकते हैं। ALU को पूर्णांक गणना के लिए ही आम तौर पर डिजाइन किया गया है। इस ALU डिजाइन की मदद से पूर्णांक वाले गुणन का जवाब या परिणाम भी पूर्णांक में मिलता है। आम तौर पर ALU डिवीजन के ऑपरेशन्स नहीं के सकता है क्योंकि डिवीजन का परिणाम फ्लोटिंग प्वाइंट जैसे नंबरों में आता है। हालांकि डिवीजन के ऑपरेशन फ्लोटिंग प्वाइंट यूनिट यानि एफपियू (FPU) द्वारा किया जा सकता है।

ALU को किस प्रकार डिजाइन किया गया है? (How the ALU is designed in Hindi?)

ALU हर प्रोसेसर का एक  सामान्य और मूलभूत अंग है जो अलग अलग प्रोसेसर के हिसाब से डिजाइन किया जाता है जिसके आधार पर वह कार्य करता है। कई प्रोसेसर में ALU को फ्लोटिंग प्वाइंट के ऑपरेशन के लिए डिजाइन किया जाता है तो कुछ को सिर्फ पूर्णांक ऑपरेशन के लिए तैयार किया जाता है। कई ऐसे ALU भी डिजाइन किए गए हैं जिसे गणना के समय अंक गणितीय इकाइयों के साथ कार्य करता है। इतने तरह के ALU डिजाइन करने के बाद भी अभी ALU का प्राथमिक काम पूर्णांक के ऑपरेशन को संभालना ही होता है इसीलिए कम्प्यूटर का हर एक पूर्णांक का काम ALU प्रोसेसर ही करता है। 

CU और ALU में क्या अंतर है? (What is the difference between CU and ALU in Hindi?)

कई लोग CU और ALU को ले कर हमेशा संदेह में रहते हैं। कई लोग समझते हैं कि CU और ALU का काम कम्प्यूटर प्रोसेस में एक जैसा होता है पर आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दोनों ही अलग अलग चीजें हैं और दोनों के काम करने का तरीका भी अलग ही होता है। हालांकि CU और ALU को कम्प्यूटर के केंद्रीय प्रोसेस यूनिट यानि CPU का दिल भी कहा जाता है क्योंकि इन दोनों के बिना CPU में किसी भी तरह का प्रोसेस नहीं किया जा सकता है।

ALU को अंक गणित और तर्क इकाई के लिए डिजाइन किया गया है जो केवल अंकों या तर्क से जुड़ी काम करता है। किसी भी ALU का काम तार्किक या अंक गणित का संचालन करना होता है। ALU अंक गणित से जुड़े काम जैसे जोड़, घटाव और तर्क से जुड़े काम करता है जबकि CU का काम कम्प्यूटर नियंत्रण का होता है। एक CU को नियंत्रण इकाई के रूप में डिजाइन किया गया है

जो यूजर के द्वारा दी जा रही निर्देशों को ले कर उसे कम्प्यूटर की भाषा में बदल कर आगे के काम के लिए तैयार करता है। CU यूजर द्वारा दी जा रही सभी निर्देशों को डिकोड कर के CPU और कम्प्यूटर के अन्य इकाइयों को भेज कर उन्हे आगे के आंतरिक कामों को करने के लिए नियंत्रित करता है।

ALU और CPU क्या है? (What is ALU and CPU in Hindi?)

ALU और CPU दोनों ही कम्प्यूटर के अलग अलग भाग हैं लेकिन ALU को कम्प्यूटर के केंद्रीय प्रोसेस यूनिट यानि CPU के साथ जोड़ा जाता है जिसकी मदद से CPU को दी जा रहे सारे काम किए जाते हैं और इसीलिए ALU को CPU का दिल भी कहते हैं। ALU के बिना CPU का काम करना मुमकिन नहीं है।

CPU किसी कम्प्यूटर को चलाने वाला अहम प्रोसेसर है जो यूजर द्वारा दी जा रही सभी निर्देशों को अलग अलग प्रोसेसर में विस्तारित के उसकी व्याख्या और देखभाल करता है लेकिन वहीं ALU किसी कम्प्यूटर के CPU के अंदर रह कर यूजर द्वारा दी गई केवल अंक गणित और तर्क इकाई को हल कर उसका समाधान निकालने का काम करता है। कोई भी ALU केवल तर्क, तुलना और अंक गणित को अन्य प्रोसेसर में संचालित करता है। 

BFF FULL FORM IN HINDI – जानिए क्या है BFF, पूरी जानकारी

CPU के निर्माण कितने ALU का इस्तेमाल किया जाता है?

जैसा कि हमने आपको पहले ही बता दिया है कि ALU एक अंक गणित और तर्क आधारित प्रोसेसर होता है जो किसी CPU यानि कम्प्यूटर के केंद्रीय प्रोसेसर यूनिट में मौजूद रह कर अंक गणित और तर्कों को हल करता है। CPU को बनाने में कई अन्य तरह के प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाता है। उन्हीं प्रोसेसर में एक ALU भी है। एक सीपीयू के निर्माण में दो ALU यानि अंक गणित और तर्क इकाई का इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही एक PLU यानि समानांतर तर्क इकाई और रजिस्टर को भी इसमें जोड़ा जाता है।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment